Shadow

उत्तराखंड

कोरोना से हारे दिग्गज सिंगर SP बालासुब्रमण्यम, 12घंटे में रिकॉर्ड किये थे 21 गाने

कोरोना से हारे दिग्गज सिंगर SP बालासुब्रमण्यम, 12घंटे में रिकॉर्ड किये थे 21 गाने

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, ट्रेंडिंग, मनोरंजन, राजनीति, राष्ट्रीय
फाइल फोटो कोरोना से हारे दिग्गज सिंगर SP बालासुब्रमण्यम, 12घंटे में रिकॉर्ड किये थे 21 गाने दक्षिण भारतीय और हिंदी फ़िल्मों के मशहूर सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम का शुक्रवार को निधन हो गया है. 74 वर्षीय बालासुब्रमण्यम ने चेन्नई के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली. https://twitter.com/vp_offl/status/1309396665019719680?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1309396665019719680%7Ctwgr%5Eshare_3&ref_url=https%3A%2F%2Fnavbharattimes.indiatimes.com%2Fmovie-masti%2Fnews-from-bollywood%2Fveteran-playback-singer-s-p-balasubrahmanyam-died-of-coronavirus%2Farticleshow%2F78311277.cms बॉलिवुड के मशहूर सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम का शुक्रवार दोपहर 1 बजकर 4 मिनट पर निधन हो गया है। वह बीते महीने कोरोना से संक्रमित हुए थे। 'मैंने प्यार किया' के गाने हों या 'साजन' या फ...
फिल्म मैं मुलायम के गीत ‘‘ये हैं मुलायम‘‘ की लांचिंग, स्टार कास्ट रही मौजूद..

फिल्म मैं मुलायम के गीत ‘‘ये हैं मुलायम‘‘ की लांचिंग, स्टार कास्ट रही मौजूद..

उत्तराखंड, मनोरंजन
फाइल फोटो फिल्म मैं मुलायम के गीत ‘‘ये है मुलायम‘‘ की लांचिंग फिल्म की स्टार कास्ट मौजूदगी में हुआ गीत लांच पूर्व मुख्यमंत्री के जीवन पर आधारित फिल्म जल्दी आएगी रूपहले पर्दे पर लखनऊ। एम एस फिल्म प्रोडक्शन की फिल्म मै मुलायम के दूसरे गाने की लॉन्चिंग लखनऊ में की गई । यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की जीवनी पर आधारित इस फिल्म में मुख्य किरदार अमित सेठीे ने निभाया है उन्होंने अपने सशक्त अभिनय से एक महान राजनेता के जीवन के विभिन्न पहलुओं को अभिनीत किया है यह फिल्म जल्द ही सिल्वर स्क्रीन पर आने वाली है। लखनऊ के इन 4 निजी अस्पतालों में भर्ती सभी 48 कोरोना मरीजों की हुई मौत लखनऊ के होटल रेडिसन में फिल्म मैं मुलायम के दूसरे गीत की लॉन्चिंग हुई । गीत ‘‘ये है मुलायम‘‘ लीड एक्टर अमित सेठी, एक्ट्रेस सना अमीन शेख , सुप्रिया कर्णिक निर्देशक सुवेंदु राज घोष, निर्माता मीना सेठी मोंडल...
जानिये क्यों हो रहा है कृषि बिलों को लेकर संसद से सड़क तक विरोध ?

जानिये क्यों हो रहा है कृषि बिलों को लेकर संसद से सड़क तक विरोध ?

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, ट्रेंडिंग, बाज़ार, राजनीति, राष्ट्रीय, सम्पादकीय
फाइल फोटो  नई दिल्ली। इन दिनों लोकसभा में पेश हुए कृषि बिलों को लेकर संसद से सड़क तक हंगामा मचा हुआ है। जहां एक तरफ किसान सड़क पर आंदोलन कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ विपक्ष और सत्तापक्ष आमने-सामने हो गए हैं। सरकार का कहना है कि वह इस बिल के माध्यम से 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का सपना देख रही है तो वहीं विपक्ष इस बिल को किसान विरोधी बता रहा है इतना ही नहीं खुद एनडीए के मंत्रीमंडल में शामिल खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल इन बिलों के विरोध में इस्तीफा भी दे चुकी हैं। पूरे देश में विपक्ष के साथ साथ कई किसान संगठन भी इन बिलों के विरोध में आंदोलन कर रहे हैं। आइए जानते हैं कि बिल को लेकर पक्ष विपक्ष का क्या कहना है। UNLOCK-4: इन राज्यों में खोले जा रहे हैं स्कूल-कॉलेज, जानिये किन राज्यों ने किया खारिज.. क्या है बिल- सरकार का कहना है कि ये बिल किसानों के लिए वरदान है। इनक...
UNLOCK-4: इन राज्यों में खोले जा रहे हैं स्कूल-कॉलेज, जानिये किन राज्यों ने किया खारिज..

UNLOCK-4: इन राज्यों में खोले जा रहे हैं स्कूल-कॉलेज, जानिये किन राज्यों ने किया खारिज..

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, करियर, ट्रेंडिंग, राष्ट्रीय
फाइल फोटो केंद्र सरकार ने अनलॉक-4 की गाइडलाइंस के तहत सरकारों को 21 सितंबर से कंटेनमेंट जोंस के बाहर कक्षा 9 से 12 तक के बच्चों के लिए स्कूल कॉलेज खोलने की अनुमति दे दी थी। इसके लिए सरकार ने बच्चों के माता-पिता की तरफ से सहमति होने का अनिवार्य शर्त रखी थी, हालांकि अभी कई राज्यों में सोमवार से स्कूल कॉलेज खोलने को लेकर असमंजस में दिखाई दिया। रिया का दावा, सुशांत ने सारा के साथ ली ड्रग्स सहित पढ़िये पांच बड़ी खबरें बता दें कि केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ में सोमवार से कई सरकारी स्कूल खुले. इस दौरान स्कूल आने वाले बच्चों से सहमति पत्र लिया गया है स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए नियम बनाए गए हैं हालांकि स्कूल शिक्षकों का मानना है कि महामारी को देखते हुए और जिस तरह से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं ऐसे में अभी स्कूल खोलने का निर्णय सही नहीं है शिक्षकों का मानना है कि बच्चों स...
यूपी: युवाओं के एक्शन से घबराई योगी सरकार, भर्ती शुरू करने का दिया आदेश

यूपी: युवाओं के एक्शन से घबराई योगी सरकार, भर्ती शुरू करने का दिया आदेश

Breaking, Uncategorised, अंतर्राष्ट्रीय, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग, बाज़ार, मनोरंजन, राजनीति, राष्ट्रीय, लाइफ स्टाइल, वीडियो, सम्पादकीय
यूपी: युवा के एक्शन से घबराई योगी सरकार, भर्ती शुरू करने का दिया आदेश लखनऊ : बेरोजगारी को लेकर सड़कों पर उतरे युवाओं की मुहिम का प्रदेश की योगी सरकार पर असर पड़ता दिखाई दे रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लोकभवन में अफसरों के साथ बैठक की और सरकारी विभागों में खाली पड़े पदों का ब्यौरा मांगा है और 21 सितंबर को सभी भर्ती आयोगों की बैठक बुलाई है, उन्होंने निर्देश दिया कि अब तक हुईं तीन लाख भर्तियों की तरह ही पारदर्शी तरीके से अगले तीन महीने में भर्ती प्रक्रिया शुरू करें और अगले छह महीने में नियुक्ति पत्र बांटें। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार यूपी लोकसेवा आयोग और अन्य सरकारी भर्तियां हुई हैं उसी पारदर्शी व निष्पक्ष तरीके से सभी भर्तियां की जाएं। बता दें कि गुरुवार को युवाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया। इस मौके पर उ...
जानिये लोकसभा में पारित किसान विधेयकों का आखिर क्यों हो रहा है विरोध

जानिये लोकसभा में पारित किसान विधेयकों का आखिर क्यों हो रहा है विरोध

Breaking, अंतर्राष्ट्रीय, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग, बाज़ार, राजनीति, राष्ट्रीय, सम्पादकीय
जानिये लोकसभा में पारित किसान विधेयकों का आखिर क्यों हो रहा है विरोध लोकसभा में पारित कृषि से जुड़े तीन अहम विधेयकों का पंजाब से लेकर महाराष्ट्र तक विरोध हो रहा है. इन विधेयकों के विरोध में शिरोमणि अकाली दल से मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने मंत्री पद से इस्तीफा तक दे दिया. बीजेपी इन विधेयकों को किसानों के लिए क्रांतिकारी बता रही है, वहीं कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल इन विधेयकों को किसानों के लिए नुकसानदह बता रहे हैं. आइए, हम आपको बताते हैं विधेयक में क्या खास है और क्यों इनका विरोध हो रहा है. लोकसभा में पारित हुए तीन कृषि विधेयक पहला - कृषि उत्पादन व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक 2020 दूसरा - मूल्य आश्वासन पर किसान (बंदोबस्ती और सुरक्षा) समझौता और कृषि सेवा विधेयक 2020 और तीसरा आवश्यक वस्तु संशोधन बिल पहले विधेयक के तहत- किसान मनचाही जगह पर फसल बेच सकते हैं. बिना किसी रुका...
राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर लगाया कोरोना वॉरियर्स के अपमान का आरोप

राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर लगाया कोरोना वॉरियर्स के अपमान का आरोप

Breaking, अंतर्राष्ट्रीय, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, एक्सक्लूसिव, राजनीति, राष्ट्रीय, लाइफ स्टाइल, सम्पादकीय
राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर लगाया कोरोना वॉरियर्स के अपमान का आरोप नई दिल्लीः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने कोरोना वायरस महामारी को लेकर केंद्र को मोदी सरकार को आज फिर घेरा . उन्होंने सरकार पर हेल्थ वर्कर्स के अपमान करने का आरोप लगाया. राहुल गांधी ने ट्वीट किया ''प्रतिकूल डाटा-मुक्त मोदी सरकार! थाली बजाने, दिया जलाने से ज्यादा जरूरी हैं उनकी सुरक्षा और सम्मान. मोदी सरकार, कोरोना वॉरियर का इतना अपमान क्यों?'' राहुल गांधी का यह ट्वीट सरकार के संसद में दिये गये उस लिखित जवाब के बाद आया है जिसमें कोरोना से संक्रमित होने वाले और जान गंवाने वाले हेल्थ वर्कर्स का डेटा नहीं होने की बात कही है. अपने ट्वीट के साथ गांधी ने इससे जुड़ी एक खबर का लिंक भी शेयर किया. गुरुवार को राहुल गांधी ने सरकार पर रोजगार को लेकर हमला बोला था. नौकरी के आंकड़ों से जुड़ी एक न्यूज को शेयर करत...
बाबरी विध्वंस : 30 सितंबर को आएगा फैसला, आडवाणी, उमा समेत सभी 32 आरोपियों को कोर्ट में रहना होगा मौजूद

बाबरी विध्वंस : 30 सितंबर को आएगा फैसला, आडवाणी, उमा समेत सभी 32 आरोपियों को कोर्ट में रहना होगा मौजूद

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, ट्रेंडिंग, राजनीति, राष्ट्रीय
फाइल फोटो लखनऊ: आयोध्या में बाबरी विध्वंस मामले में लखनऊ में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट 30 सितंबर को फैसला सुनाने वाली है. कोर्ट ने मामले में सभी 32 मुख्य आरोपियों को इस दिन सुनवाई में शामिल होने को कहा है. इनमें भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं जैसे- लालकृष्ण आडवाणी, उमा भारती, मुरली मनोहर जोशी और कल्याण सिंह भी शामिल हैं. TV MEDIA के साथ ‘TRP और ज्यादा सनसनी फैलाने को लेकर’.. है समस्‍या: सुप्रीम कोर्ट 27 साल पहले अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 को 'कारसेवकों' ने बाबरी मस्जिद को ढहा दिया था। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशन में विशेष जज एसके यादव ने मामले में सुनवाई पूरी की है। पहले सुप्रीम कोर्ट ने 31 अगस्त तक का समय दिया था। लेकिन ट्रायल की समीक्षा के बाद सुप्रीम कोर्ट ने 30 सितंबर तक फैसला देने का समय दिया था। इस मामले में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत कई बड़े नेता आरोपी ह...
NEP 2020 : वर्ष 2022 से लागू किया जा सकता है चार वर्षीय B.ed पाठ्यक्रम

NEP 2020 : वर्ष 2022 से लागू किया जा सकता है चार वर्षीय B.ed पाठ्यक्रम

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, करियर, ट्रेंडिंग, राष्ट्रीय
फाइल फोटो नई शिक्षा नीति में चार वर्षीय बीएड पाठ्यक्रम लागू करने के लिए ज्यादा मोहलत दिए जाने के बावजूद प्रदेश में यह पहले ही लागू किया जा सकता है। नई शिक्षा नीति लागू करने को गठित उच्च शिक्षा विभाग की स्टीयरिंग कमेटी को इस संबंध में लगातार सुझाव मिल रहे हैं। ऐसे में यह पाठ्यक्रम वर्ष 2022 से ही लागू करने पर विचार चल रहा है। बता दें कि प्रदेश में इस समय दो वर्षीय बीएड पाठ्यक्रम लागू है। अभ्यर्थी चाहे स्नातक हो या स्नातकोत्तर उसे दो वर्षीय बीएड ही करना पड़ता है। हालांकि नई शिक्षा नीति में स्नातकोत्तर उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को एक वर्षीय बीएड करने की छूट देने का भी प्रावधान है। दो वर्षीय बीएड केवल स्नातक उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को करना होगा। नई शिक्षा नीति में यह प्रावधान है कि वर्ष 2030 के बाद केवल चार वर्षीय बीएड करने वाले ही शिक्षक भर्ती के लिए पात्र होंगे। इस तरह वर्ष 2026 तक दाखिला लेकर...
अमित शाह की एक बार फिर बिगड़ी तबीयत, एम्स में हुए भर्ती

अमित शाह की एक बार फिर बिगड़ी तबीयत, एम्स में हुए भर्ती

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, ट्रेंडिंग, राजनीति, राष्ट्रीय
File photo नई दिल्ली. देश के गृहमंत्री अमित शाह को पिछले काफी वक्त से सेहत से जुड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. अमित शाह को एक बार फिर से दिल्ली में एम्स में भर्ती करवाया गया है. देर रात 11 बजे गृहमंत्री अमित शाह को एक बार फिर एम्स में भर्ती कराया गया है. बता दें कि पिछले दिनों गृहमंत्री अमित शाह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे. हालांकि इलाज के बाद कोरोना निगेटिव पाए जाने के बाद गृहमंत्री अमित शाह को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया था. वहीं अब अमित शाह को सांस लेने में तकलीफ के चलते अस्पताल में भर्ती किया गया है. अमित शाह को शनिवार को रात 11 बजे एम्स में भर्ती किया गया है. वहीं सूत्रों की माने तो कोरोना वायरस से उबरने के बाद अमित शाह सांस लेने में समस्या का सामना कर रहे हैं. एम्स के एक सूत्र ने कहा, 'यह बेहतर होगा कि कुछ वक्त के लिए अमित शाह अस्पताल में रहें, जहा...