Shadow

एक्सक्लूसिव

एलडीए अभियंता करते हैं प्रतिमाह करोड़ों की अवैध वसूली, उपाध्यक्ष अनजान

एलडीए अभियंता करते हैं प्रतिमाह करोड़ों की अवैध वसूली, उपाध्यक्ष अनजान

उत्तर प्रदेश, एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग, बाज़ार, सम्पादकीय
लखनऊ विकास प्राधिकरण में भ्रष्टाचार सिर चढ़कर बोल रहा है। अवैध निर्माण का लखनऊ में बोलबाला है, जिधर देखो उधर अवैध निर्माण का बोल बाला है, कोरोना महामारी को लखनऊ विकास प्राधिकरण के अभियंताओं ने अवसर में बदल दिया है, एलडीए अभियंताओं द्वारा बड़े पैमाने पर लखनऊ में अवैध निर्माण कराये जाने की शिकायतें हमारी टीम को मिल रही थी, लिहाज़ा हमारी टीम ने एलडीए के प्रवर्तन विभाग में फैले भ्रष्टाचार की हकीकत जानने के लिए हमने एलडीए जोन चार में चल रहे निर्माणों की पड़ताल की तो पूरा तंत्र ही भ्रष्टाचार में लिप्त मिला, सवाल है जब पूरा तंत्र ही भ्रष्टाचार में लिप्त है तो कैसे मिलेगी भ्रष्टाचार से आजादी। पेश एक रिपोर्ट- आपदा में अवसर कोरोना महामारी के दौर में जहाँ हर कोई परेशान है, कारोबार बंद हैं लोग घरों में बंद हैं, खाने पीने और रोज़मर्रा की ज़रूरतों के लिए लोग जद्दोदहद कर रहे हैं वहीँ लखनऊ विकास...
15 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

15 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग
15 अप्रैल का इतिहास के पन्नों में बड़ा ही विशेष स्थान है। 15 अप्रैल को सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक का जन्म हुआ था। 15 अप्रैल 1469 को तलवंडी राय भोइ की(अब पाकिस्तान में), जिसे अब ननकाना साहिब कहा जाता है, में बाबा मेहता कालू और माता तृप्ता के यहां जन्मे बालक को नानक का नाम दिया गया। उस समय कौन जानता था कि यह बालक विश्व भर में सिखों के प्रथम गुरु के रूप में पूजनीय होगा। उन्होंने धार्मिक सौहार्द्र को सर्वोपरि बताया और सिख धर्म की नींव रखी। वह कई भाषाओं के ज्ञाता थे और उन्होंने दुनिया के विविध स्थानों की यात्राएं कीं। साल का यह 105वां दिन एक और कारण से भी खास अहमियत रखता है। दरअसल वर्ष 2004 में आज ही के दिन फ्रांस में एक कानून को मंजूरी दी गई, जिसमें स्कूलों में किसी भी तरह के धार्मिक चिह्न के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई। यह कानून 2 सितम्बर 2004 से लागू हुआ। इसमें मुस्लिम लड़कियों द्वारा सिर ...
कोरोना से मौतों का बढ़ा आंकड़ा, अंतिम संस्कार के लिए मच रहा बवाल

कोरोना से मौतों का बढ़ा आंकड़ा, अंतिम संस्कार के लिए मच रहा बवाल

उत्तर प्रदेश, एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग
  कोरोना की दूसरी लहर में लोग न सिर्फ तेजी से संक्रमित हो रहे हैं  बल्कि मौतों का ग्राफ भी बड़ी तेजी से बढ़ रहा है। राजधानी लखनऊ में सोमवार को रात आठ बजे तक 130 शव शहर के दो श्मशान घाटों पर पहुंचे। इसमें ज्यादातर शव संक्रमित थे। शवों के अंतिम संस्कार के दौरान लकड़ी कम पड़ जाने पर हंगामा भी देखने को मिला। वहीं बैकुंठधाम पर सोमवार को 86 शव पहुंचे। वहीं गुलाला घाट पर कुल 44 शव पहुंचे। लकड़ी की कालाबाजारी इस कदर दिखाई दी कि बैकुंठधाम पर सामान्य शवों के अंतिम संस्कार के लिए आए लोगों को निशातगंज, रहीम नगर और डालीगंज से लकड़ी खरीद कर लानी पड़ी। जहां इनसे मनमाना पैसा भी लिया गया। बैकुंठधाम पर अंतिम संस्कार कराने वाले की माने तो पहले अंतिम संस्कार के लिए 15 से 20 शव आते थे, अब 40 आ रहे हैं। घाट पर लकड़ी का रेट 550 रुपये प्रति कुंतल फिक्स है, जबकि बाहर वाले अधिक पैसा ले रहे हैं। बैकुंठधाम...
12 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

12 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग
12 अप्रैल के इतिहास से अच्छा शिक्षक कोई दूसरा हो नहीं सकता. इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है बल्कि इन घटनाओं से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं. इसी कड़ी में जानेंगे आज 12 अप्रैल को देश-दुनिया में क्या हुआ था, कौन सी बड़ी घटनाएं घटी थीं, जिसने इतिहास के पन्नों पर अपना प्रभाव छोड़ा. जानेंगे, आज के दिन जन्मे खास व्यक्तियों के बारे में और बात करेंगे उनकी जो दुनिया से इस दिन विदा होकर चले गए. 12 अप्रैल को हुई महत्वपूर्ण घटनाएं..... 1621: सिख गुरु तेग बहादुर का जन्म. 1801: विलियम क्रे को कलकत्ता (अब कोलकाता) के फोर्ट विलियम कॉलेज में बंगाली भाषा का प्रोफेसर नियुक्त किया गया. 1801: रणजीत सिंह ने खुद को पंजाब का महाराजा घोषित किया. 1861: अमेरिका में गृह युद्ध शुरू हुआ. 1927: ब्रिटिश कैबिनेट ने 21 वर्ष की महिलाओं को मतदान करने का अधिकार देने का समर्थन किया. 1928: जर्मन विम...
10 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

10 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग
10 अप्रैल के इतिहास से अच्छा शिक्षक कोई दूसरा हो नहीं सकता. इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है बल्कि इन घटनाओं से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं. इसी कड़ी में जानेंगे आज 10 अप्रैल को देश-दुनिया में क्या हुआ था, कौन सी बड़ी घटनाएं घटी थीं जिसने इतिहास के पन्नों पर अपना प्रभाव छोड़ा. जानेंगे, आज के दिन जन्मे खास व्यक्तियों के बारे में............ 10 अप्रैल को हुई महत्त्वपूर्ण घटनाएं – संयुक्त राज्य अमेरिका की संघीय सरकार ने 1816 में वहां दूसरे बैंक की स्थापना को मंजूरी दी. हेनरी बेर्घ ने 1866 में न्यूयॉर्क शहर में पशु क्रूरता निवारण के लिए अमेरिकन सोसायटी की स्थापना की. इथियोपिया में ब्रिटिश और भारतीय सेना ने 1868 में टेवॉड्रोज़ द्वितीय (Tewodros II) की सेना को हराया और इस युद्ध में 700 इथियोपियन मारे गये, जबकि सिर्फ़ दो ब्रिटिश-भारतीय सैनिक शहीद हुए. स्वामी दयानंद सरस्...
9 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

9 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग
9 अप्रैल के इतिहास से अच्छा शिक्षक कोई दूसरा हो नहीं सकता. इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है बल्कि इन घटनाओं से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं. इसी कड़ी में जानेंगे आज 9 अप्रैल को देश-दुनिया में क्या हुआ था, कौन सी बड़ी घटनाएं घटी थीं जिसने इतिहास के पन्नों पर अपना प्रभाव छोड़ा. जानेंगे, आज के दिन जन्में खास व्यक्तियों के बारे में..... 9 अप्रैल का महत्वपूर्ण इतिहास 1667: पेरिस में पहली पब्लिक आर्ट प्रदर्शनी लगाई गई. 1669: मुगल साम्राज्य का बादशाह औरंगजेब ने सभी हिन्दू स्कूलों और मंदिरों को ध्वस्त करने का आदेश दिया. 1838: लंदन में नेशनल आर्ट गैलरी खोली गई. 1945: यूनाइटेड स्टेट्स एटोमिक एनर्जी कमीशन की स्थापना की हुई. 1953: वार्नर ब्रदर्स ने 'हाउस ऑफ वैक्स' शीर्षक से पहली 3 डी फिल्म प्रदर्शित की. 1955: अमेरिका ने नेवादा में परमाणु परीक्षण किया. 1957: मिस्र की स्वेज ...
LOCKDOWN की आहट बना गरीबों का सिरदर्द!, इन राज्यों में हुई वैक्सीन की कमी

LOCKDOWN की आहट बना गरीबों का सिरदर्द!, इन राज्यों में हुई वैक्सीन की कमी

उत्तर प्रदेश, एक्सक्लूसिव, खेल, ट्रेंडिंग, बाज़ार, मनोरंजन, राजनीति, राष्ट्रीय, सम्पादकीय
देश में कोरोना संक्रमण के मामले जितनी तेजी से बढ़ रहे हैं उससे तो लोगों को मन में एक ही डर सता रहा है कि कहीं फिर से लॉकडाउन न लग जाए। तो वहीं गरीब सोचने लगा है कि कहीं फिर से न उसकी रोजी रोटी बंद हो जाए। क्योंकि अब से ठीक एक साल पहले जब लॉकडाउन लगा था तो न जाने कितने लोगों के रोजगार छिने थे और कितनों की भूख से मौत हो गई थी। अब जब एक साल बाद लोगों का इतनी बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन हो चुका है तो वहीं फिर से कोरोना के वैसे ही आंकड़े आना हैरत में डालते हैं। देश में अब तक लगभग 8 करोड़ 31 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन लग चुकी है। तो वहीं कुछ ऐसे भी राज्य हैं जहां कोरोना वैक्सीन की शॉर्टिज देखने को मिल रही है। जिनमें हरियाणा, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली, छत्‍तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और तेलांगना शामिल हैं। इत्तेफाख की बात ये है कि इन सभी राज्यों बीजेपी की सरकार नहीं है। तो ऐसे में एक सवाल ये भी उठता है कि क्...
8 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

8 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग
8 अप्रैल के इतिहास से अच्छा शिक्षक कोई दूसरा हो नहीं सकता. इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है बल्कि इन घटनाओं से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं. इसी कड़ी में जानेंगे आज 8 अप्रैल को देश-दुनिया में क्या हुआ था, कौन सी बड़ी घटनाएं घटी थीं जिसने इतिहास के पन्नों पर अपना प्रभाव छोड़ा. जानेंगे, आज के दिन जन्में खास व्यक्तियों के बारे में...... 8 अप्रैल को हुई महत्वपूर्ण घटनाएं 1912: नील नदी में जहाजों के आपसी भिड़ंत के बाद इसमें सवार 200 से अधिक लोगों की डूबकर मौत. 1929: क्रांतिकारी भगत सिंह और बटुकेश्‍वर दत्त ने आज ही के दिन दिल्ली असेंबली बम फेंका. 1946: संयुक्त राष्ट्र के पूर्ववर्ती संगठन लीग ऑफ नेशंस की आखिरी बैठक. 1950: भारत-पाकिस्तान विभाजन के बाद आज ही के दिन दोनों देशों ने अपने- अपने देशों में रह रहे अल्पसंख्यकों के अधिकारों को सुरक्षित करने और भविष्य में दोनों दे...
7 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

7 अप्रैल का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग
7 अप्रैल का इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है बल्कि इन घटनाओं से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं. इसी कड़ी में जानेंगे आज 7अप्रैल को देश-दुनिया में क्या हुआ था, कौन सी बड़ी घटनाएं घटी थीं जिसने इतिहास के पन्नों पर अपना प्रभाव छोड़ा. जानेंगे, आज के दिन जन्में खास व्यक्तियों के बारे में और बात करेंगे उनकी जो दुनिया से इस दिन विदा होकर चले गए. 7 अप्रैल को हुई महत्वपूर्ण घटनाएं फ्रांस ने 1509 में वेनिस के खिलाफ युद्ध की घोषणा की. ब्रिटिश रसायनशास्‍त्री जॉन वॉकर ने 1827 में माचिस की बिक्री शुरु की. बाबेरियन सोवियत गणराज्य की 1919 में स्थापना. क्रांतिकारी नेता सनयात सेन 1921 में चीनी गणतंत्र के प्रथम राष्ट्रपति बने. इटली ने 1939 में दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान अल्बानिया पर कब्जा किया. ब्रुकर टी वाशिंगटन 1940 में अमेरिकी डाकटिकट पर छपने वाले पहले अश्वेत अमेरिकी बने. सीरिया ...
अलीगढ़: अभाव में जी रहे लोगों के लिए प्रेरणा बनी शिवानी, संघर्ष करते हुए जीते कई मेडल

अलीगढ़: अभाव में जी रहे लोगों के लिए प्रेरणा बनी शिवानी, संघर्ष करते हुए जीते कई मेडल

उत्तर प्रदेश, एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग
अलीगढ़। कहते हैं कि हौसला बुलंद हो तो हर सपने को साकार हो सकता है कुछ ऐसी ही कहानी है अलीगढ़ की शिवानी की। गांव बिधा की गढ़ी की कक्षा 8 की 13 वर्षीय छात्रा ने 6 साल में अलीगढ़ जिले से लेकर आगरा जोन के साथ ब्लॉक स्तर पर 19 गोल्ड और सिल्वर मेडल हासिल कर चुकी है। घर की दीवारों पर टंगे मेडल छात्रा के हुनर के साथ प्रतिभा और उसकी काबिलियत को भी दर्शाते है। मेहनत कर मजदूरी करने वाले मां-बाप भी अपनी इस बेटी पर गर्व महसूस करते है। ये तस्वीरें उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के एक छोटे से गांव बिधा की गढ़ी की हैं जहां इस गांव की छोटी सी उम्र की एक 13 वर्षीय खिलाड़ी की भूख केवल रोटी से नहीं मिटती बल्कि उसके अंदर छोटी सी उम्र में कुछ बड़ा करने का जज्बा है। वह पदकों को हासिल करने के लिए न सिर्फ दिन रात कड़ी मेहनत करती है। बल्कि अपने हाथों में दरांती लेकर हर रोज खेतों में फसल काटने अपनी मां के साथ जाती है। ...