Shadow

खेल

1983 वर्ल्ड कप के नायक यशपाल शर्मा का हुआ निधन

1983 वर्ल्ड कप के नायक यशपाल शर्मा का हुआ निधन

खेल, राष्ट्रीय
भारत के 1983 विश्व कप विजेता यशपाल शर्मा का मंगलवार को नई दिल्ली में हृदय गति रुकने से निधन हो गया। वह 66 वर्ष के थे और उनके परिवार में पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है। यशपाल शर्मा ने अपने करियर में 37 टेस्ट और 42 वनडे मैच खेले थे| वही पूर्व क्रिकेटर की मौत पर सीएम योगी ने ट्वीट करके शोक जताया है| अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में, यशपाल ने 37 टेस्ट खेले, जिसमें उन्होंने 1,606 रन बनाए और 42 एकदिवसीय मैच खेले जिसमें उन्होंने 883 रन बनाए। वह अपने साहसी रवैये के लिए जाने जाते थे और 1983 में ओल्ड ट्रैफर्ड में इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में उनके स्ट्रोक से भरे अर्धशतक को भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों की यादों में हमेशा के लिए अंकित किया जाएगा। सेवानिवृत्ति के बाद वह भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई), पंजाब और हरियाणा क्रिकेट के साथ अंपायर और चयनकर्ता सहित विभिन्न भूमिकाओं में शामिल थे| https://ln...
अलविदा मिल्खा सिंह: एशिया में चलता था सिक्का, कम उम्र में बनाये थे कई रिकॉर्ड

अलविदा मिल्खा सिंह: एशिया में चलता था सिक्का, कम उम्र में बनाये थे कई रिकॉर्ड

खेल, राष्ट्रीय
भारतीय खेल का जब भी जिक्र होगा मिल्खा सिंह का नाम सबसे ऊपर की लिस्ट में लिखा जाएगा। वह देश के पहले ट्रैंक ऐंड फील्ड सुपर स्टार थे। उन्हें फ्लाइंग सिंह के नाम से भी जाना जाता था| फ्लाइंग सिंह कहे जाने वाले महान धावक मिल्खा सिंह के निधन के बाद पूरा देश दुखी है। बीती रात चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पातल में उन्होंने आखिरी सांस ली। बता दें कि इसी हफ्ते उनकी पत्नी ने भी कोरोना से लड़ाई में दम तोड़ दिया था। अब मिल्खा सिंह के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृहमंत्री अमित शाह सहित सहित दिगग्ज नेताओं ने दुख जताया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने ट्वीट करते हुए लिखा,' 'स्पोर्टिंग आइकन मिल्खा सिंह के निधन से मेरा दिल दुख से भर गया है, उनके संघर्षों की कहानी उनके चरित्र की ताकत भारतीयों की पीढ़ियों को प्रेरित करती रहेगी, उनके परिवार के सदस्यों और अनगिनत प्रशंसकों के प्रति मेरी गह...
WTC 2021 Final: आज खेला जाएगा टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का सबसे बड़ा मुकाबला

WTC 2021 Final: आज खेला जाएगा टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का सबसे बड़ा मुकाबला

खेल, ट्रेंडिंग
भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 से 22 जून तक साउथम्पटन में विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल खेला जाएगा. भारत ने डब्ल्यूटीसी के तहत 6 सीरीज खेली. इसमें टीम इंडिया ने 12 टेस्ट जीते, 4 हारे और एक मुकाबला ड्रॉ रहा| वहीं, न्यूजीलैंड ने पांच सीरीज खेली| इसमें 7 टेस्ट जीते और 4 गंवाए| इस वक्त ये दोनों टीमें आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में पहले और दूसरे स्थान पर हैं| ऐसे में ये मुकाबला रोमांचक होने की पूरी उम्मीद है| लेकिन टीम इंडिया को थोड़ी मुश्किल हो सकती है| क्योंकि आईसीसी टूर्नामेंट में उसका न्यूजीलैंड के खिलाफ रिकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं है| खासतौर पर जब ये दोनों टीमें न्यूट्रल वेन्यू पर आमने-सामने हुईं हैं, तो पलड़ा हमेशा न्यूजीलैंड का ही भारी रहा है| टीम इंडिया ने तगड़ा दांव चलते हुए मैच से एक दिन पहले ही प्लेइंग 11 का एलान कर दिया है. वहीं कीवी टीम ने अब तक अपने पत्ते बंद ही रखे हैं| भारत को हाला...
कोरोना टीकाकरण महाअभियान का जायजा लेने के.डी. सिंह ‘बाबू’ स्टेडियम पहुंचे सीएम योगी

कोरोना टीकाकरण महाअभियान का जायजा लेने के.डी. सिंह ‘बाबू’ स्टेडियम पहुंचे सीएम योगी

उत्तर प्रदेश, खेल, ट्रेंडिंग
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ उत्तर प्रदेश में वैक्सीनेशन का एक महाअभियान शुरू हो गया है। 18-44 के साथ 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को इसका लाभ देने के लिए छह हजार से अधिक केंद्रों पर कोरोना टीकाकारण किया जा रहा है। सरकार का लक्ष्य है की जून माह में एक करोड़ से अधिक लोगों के कोरोना रोधी टीकाकरण लगाया जाये। वही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के के.डी. सिंह 'बाबू' स्टेडियम में चल रहे कोरोना टीकाकरण महाअभियान का जायजा लिया।इस दौरान सीएम ने कोरोना का टीका लगावाने वालों से बात भी की। उन्होंने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए इस महाभियान को सफल बनाएं। बता दें की प्रदेश सरकार की तरफ से 18 से 44 वर्ष के लोगों को और केंद्र सरकार की तरफ से प्रदेश में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को नि:शुल्क कोरोना वायरस रोधी टीका लगवाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार का लक्ष्य जून ...
आईपीएल 2021 : मैच से पहले दीपक चाहर ने छुए शमी के पैर, VIRAL हो रही फोटो

आईपीएल 2021 : मैच से पहले दीपक चाहर ने छुए शमी के पैर, VIRAL हो रही फोटो

खेल
इंडियन प्रीमियर लीग 2021 का 8वां मैच चेन्नई सुपर किंग्स और पंजाब किंग्स के बीच खेला गया। इस मैच में चेन्नई के लिए दीपक चाहर ने 13 रन देकर चार विकेट लिए और अपनी टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। दीपक चाहर के प्रदर्शन की तो तारीफ हो ही रही है लेकिन मैच से पहले उनकी एक और तस्वीर वायरल हो रही है। इस तस्वीर में वह पंजाब किंग्स के अनुभवी तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी के पैर छू रहे हैं। और शमी उन्हें रोकने की कोशिश कर रहे हैं। फैन्स को भी यह तस्वीर काफी पसंद आई। कई लोगों ने तो यह भी कमेंट किया है कि दीपक चाहर को इतने विकेट मोहम्मद शमी की वजह से ही मिले हैं। इस मैच में दीपक की तरह शमी का प्रदर्शन भी शानदार रहा। हालांकि उनकी टीम को इस मैच में एकतरफा हार का सामना करना पड़ा, लेकिन उन्होंने 4 ओवरों में 21 देकर दो बड़े विकेट हासिल किए। इसमें सुरेश रैना और अंबाती रायुडू के विकेट शामिल हैं। मैच में दीपक च...
बंदे भारत गाँव गाँव में बनाएगी खेल के केंद्र

बंदे भारत गाँव गाँव में बनाएगी खेल के केंद्र

उत्तर प्रदेश, खेल, ट्रेंडिंग
लखनऊ। बंदे भारत ने ग्रामीण खेल अभियान के तहत लखनऊ के मोहनलालगंज क्षेत्र में खेलों को बढ़ावा देने का निर्णय किया है। इसके तहत बंदे भारत गाँव गाँव खेल के केंद्र बनाएगी जिसकी शुरुआत आज बंदे भारत ने कर दिया है और आज पहला वालीबाल का केंद्र छोटी खेड़ा गढ़ी में शुरू कर दिया है। ट्रस्ट के संयोजक और पूर्व अंतर्रराष्ट्रीय एथिलीट अजीत कुमार ने बताया कि गावों में वालीबाल बहुत लोकप्रिय है। अतः हमने मोहनलालगंज के सभी 27 न्याय पंचायतों में वालीबाल के केंद्र बनाने का निर्णय किया है। धीरे धीर हम हर ग्राम सभा में किसी न किसी खेल का केंद्र बनाएँगे। बंदे भारत ने इस अभियान को चलाने के लिए इंफ़्रा होर्स से समझौता किया है। कम्पनी के प्रोजेक्ट हेड मोहम्मद कासिफ ने बतााय कि अजीत जी बहुत वर्षों से खेलों को बढ़ावा दे रहे हैं। अतः इंफ़्रा हॉर्स ने भी खेलों के विकास के लिए बंदे भारत को सहयोग करने का निर्णय किया। इस...
LOCKDOWN की आहट बना गरीबों का सिरदर्द!, इन राज्यों में हुई वैक्सीन की कमी

LOCKDOWN की आहट बना गरीबों का सिरदर्द!, इन राज्यों में हुई वैक्सीन की कमी

उत्तर प्रदेश, एक्सक्लूसिव, खेल, ट्रेंडिंग, बाज़ार, मनोरंजन, राजनीति, राष्ट्रीय, सम्पादकीय
देश में कोरोना संक्रमण के मामले जितनी तेजी से बढ़ रहे हैं उससे तो लोगों को मन में एक ही डर सता रहा है कि कहीं फिर से लॉकडाउन न लग जाए। तो वहीं गरीब सोचने लगा है कि कहीं फिर से न उसकी रोजी रोटी बंद हो जाए। क्योंकि अब से ठीक एक साल पहले जब लॉकडाउन लगा था तो न जाने कितने लोगों के रोजगार छिने थे और कितनों की भूख से मौत हो गई थी। अब जब एक साल बाद लोगों का इतनी बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन हो चुका है तो वहीं फिर से कोरोना के वैसे ही आंकड़े आना हैरत में डालते हैं। देश में अब तक लगभग 8 करोड़ 31 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन लग चुकी है। तो वहीं कुछ ऐसे भी राज्य हैं जहां कोरोना वैक्सीन की शॉर्टिज देखने को मिल रही है। जिनमें हरियाणा, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली, छत्‍तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और तेलांगना शामिल हैं। इत्तेफाख की बात ये है कि इन सभी राज्यों बीजेपी की सरकार नहीं है। तो ऐसे में एक सवाल ये भी उठता है कि क्...
लखनऊ: नेशनल चैंपियनशिप 20 21 में कई महिला बॉडी बिल्डरों ने दिखाया दम खम

लखनऊ: नेशनल चैंपियनशिप 20 21 में कई महिला बॉडी बिल्डरों ने दिखाया दम खम

उत्तर प्रदेश, खेल, ट्रेंडिंग
लखनऊ। राजधानी लखनऊ के गोमती नगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान के मार्स ऑडिटोरियम में इंडियन बॉडी बिल्डिंग फेडरेशन द्वारा एक फेडरेशन कप का आयोजन किया गया। नेशनल चैंपियनशिप 20 21 में कई महिला बॉडी बिल्डरों ने भाग लिया। इस दौरान ताकत और दम खम के मामले में कोई महिला प्रतिभागी एक दूसरे से कम नहीं रहा।
पहलवान रितिका फोगाट ने किया सुसाइड, हाल ही में हारी थीं मुक़ाबला

पहलवान रितिका फोगाट ने किया सुसाइड, हाल ही में हारी थीं मुक़ाबला

खेल, ट्रेंडिंग, राष्ट्रीय
  चंडीगढ़। गुरुवार सुबह की शुरूआत एक दुखद खबर से हुए। देश के प्रसिद्ध पहलवान परिवार की रितिका फोगाट ने हरियाणा के चरखी दादरी जिले में आत्महत्या कर ली। पुलिस ने इस घटना की जानकारी दी। बता दें कि रितिका फोगाट पहलवान फोगाट बहनों की ममेरी बहन हैं और हाल में ही वह एक मुकाबला गईं थी। जिससे तनाव में आकर उन्होंने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बताया कि राजस्थान की जयपुर की रहने वाली रितिका अपने फूफा और द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित महावीर सिंह फोगाट के यहां चरखी दादरी के बलाली गांव में पिछले चार वर्षों से रह रही थीं। यह क्षेत्र झोझु कलां पुलिस थाना क्षेत्र के अंंतर्गत आता है। उन्होंने बताया कि 17 मार्च की रात में रितिका ने पंखे से लटककर फांसी लगा ली। वह सिर्फ एक अंक से मुकाबला गंवाने के बाद परेशान चल रही थीं। पुलिस के अनुसार, यह टूर्नामेंट राजस्थान के भरतपुर में 12 से 14 मार्च के बीच आ...
औलाद को भाया संपत्ति का लालच, वृद्धाश्रम में बुज़ुर्गों का इलाज करके डॉक्टरों ने निभाया फर्ज़

औलाद को भाया संपत्ति का लालच, वृद्धाश्रम में बुज़ुर्गों का इलाज करके डॉक्टरों ने निभाया फर्ज़

उत्तर प्रदेश, खेल
अलीगढ़ वृद्ध आश्रम में गुमनामी की जिंदगी जी रहे बुजुर्ग, लंबे समय से थे बीमार, डॉक्टरों ने बुजुर्गों का इलाज कर निभाया फर्ज अलीगढ़। सफेद कोट वालों ने अपना फर्ज अदा किया, जब अपनों ने दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर किया, ना कोई घर था और ना ही रहने के लिये कोई ठिकाना था, खाली सड़क और सिर के ऊपर खुला आसमान था। तो बचपन की आंखों की रोशनी भी बुढ़ापे के साथ कम हो गई थी। और ना ही कोई रास्ता था और ना ही इस रास्ते की कोई मंजिल थी। हाथों में बस कुछ था तो वो थी बस बुढ़ापे में साथ देने वाली एक लाठी। बस यही इन बुजुर्गों का एक अपना बुढ़ापे का सहारा था। मतलबी दुनिया हो चुकी थी और मतलबी लोग हो चुके थे। अपनी ही औलाद ने जब ठोकर मार कर घर से निकाल दिया। तो उन बुजुर्गों ने वृद्ध आश्रम में अपनों से दूर आकर वृद्धाश्रम को अपना ठिकाना बना लिया। जो बुजुर्ग आज अपनों के होते हुए भी अपनों से दूर एक दूसरे को कभी ना जानने वाल...