Shadow

बाज़ार

कोरोना संकट में ‘बेसहारों’ के ‘सहारा’ बने अखिलेश

कोरोना संकट में ‘बेसहारों’ के ‘सहारा’ बने अखिलेश

Breaking, अंतर्राष्ट्रीय, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, एक्सक्लूसिव, बाज़ार, राजनीति, राष्ट्रीय, लाइफ स्टाइल, सम्पादकीय
कोरोना संकट में अखिलेश यादव का "मुलायम स्टाइल" कोरोना महामारी को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लगातार विपक्ष के निशाने पर है, कभी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा अपने राजनैतिक बयानों से तो कभी 'बस' और पैदल चलते प्रवासी मज़दूरों को लेकर प्रदेश की योगी सरकार को घेरती रहती हैं, वहीँ अब समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के 'दांव' ने योगी सरकार की नींदें उड़ा दी है। दरअसल अखिलेश यादव ने यह 'दांव' राजनीति के पहलवान और अपने पिता मुलायम सिंह यादव से सीखा है, मुलायम सिंह को "धरती पुत्र" और "गरीबों का मसीहा" कहा जाता है, मुलायम और उनका परिवार हमेशा दूसरों की मदद के लिए तैयार रहते हैं, जनता के साथ हर अच्छे और बुरे समय खड़ी रहने वाली समाजवादी पार्टी भले ही सत्ता में रहे या उससे बाहर, उनकी महत्ता हमेशा बरकरार रही है, यही वजह है प्रदेश की राजनीति में समाजवादी पार्टी का 'जलवा' कभी कम नहीं हुआ।
21 मई से दाएं और बाएं के फार्मूले के आधार खुलेगी लखनऊ की बाज़ारें : संजय गुप्ता

21 मई से दाएं और बाएं के फार्मूले के आधार खुलेगी लखनऊ की बाज़ारें : संजय गुप्ता

उत्तर प्रदेश, ट्रेंडिंग, बाज़ार
फाइल फोटो 21 मई से दाएं और बाएं के फार्मूले के आधार खुलेगी लखनऊ की बाजारे *शॉपिंग मॉल और कांपलेक्स की दुकानें नहीं खुलेगी * अमीनाबाद क्षेत्र की बाजारों को खोलने के निर्णय के लिए नगर आयुक्त की अध्यक्षता में कमेटी का हुआ गठन, नगर मजिस्ट्रेट, डीसीपी, डिप्टी सीएमओ, व्यापार मंडल के पदाधिकारी कमेटी में शामिल * बफर जोन में केवल आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुलेगी * दुकानों को खोलने से पहले ,बंद करने के बाद व्यापारियों को दुकानों को करना होगा सैनिटाइज *मिठाई एवं बेकरी की दुकानें खुलेगी, लेकिन केवल बिक्री कर सकेंगे, बैठकर खाने की व्यवस्था पर प्रतिबंध *रेस्टोरेंट भी खुलेंगे लेकिन केवल होम डिलीवरी ही होगी, किचन में व्यापारी को लगाना होगा सीसीटीवी, रखनी होगी 1 माह की रिकॉर्डिंग ,किचन में काम करने वालों को फेस मास्क, हेड कवर , शू कवर पहनना अनिवार्य होगा *6 फीट की शारीरिक दूरी मेंटेन रखनी होगी
उत्तर प्रदेश के औरैया में सड़क दुर्घटना में 24 प्रवासी मज़दूरों की मौत, 37 घायल

उत्तर प्रदेश के औरैया में सड़क दुर्घटना में 24 प्रवासी मज़दूरों की मौत, 37 घायल

Breaking, अंतर्राष्ट्रीय, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, एक्सक्लूसिव, बाज़ार, राजनीति, राष्ट्रीय, सम्पादकीय
कोरोना की मार के चलते पूरे देश में लॉक डाउन लागू है. ऐसे में हजारों प्रवासी मजदूर अलग-अलग राज्यों से अपने घरों की तरफ पैदल ही निकल पड़े हैं. उनके सामने कोरोना अकेली परेशानी नहीं बल्कि भूख भी इनके लिए जानलेवा साबित हो रही है. ताजा खबर उत्तर प्रदेश औरैया जिले से है, जहां 24 मजदूरों की मौत सड़क हादसे में हो गई. जबकि 37 मजदूर घायल हो गए. इनमें से गंभीर रूप से घायल 14 मजदूरों को सैफई (इटावा) के पीजीआई में भर्ती कराया गया है. जहाँ वो जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहे हैं. यह घटना मिहौली इलाके में शनिवार तड़के तीन बजे से 3:30 बजे के बीच हुई. राजस्थान की ओर से आ रहा ट्रक दिल्ली की ओर से आ रहे डीसीएम वैन से टकरा गया. इस ट्रक में लगभग 50 मजदूर सवार थे. कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बताया, ‘शनिवार सुबह एक डीसीएम वैन दिल्ली से मजदूरों को लेकर आ रही थी. इनमें से कुछ मजदूर औरैया और का
राहत पैकेज का तीसरा ब्लू प्रिंट / खेती के लिए 1 लाख करोड़ रु, किसानों को दूसरे राज्यों में भी उपज बेचने की छूट

राहत पैकेज का तीसरा ब्लू प्रिंट / खेती के लिए 1 लाख करोड़ रु, किसानों को दूसरे राज्यों में भी उपज बेचने की छूट

ट्रेंडिंग, बाज़ार, राष्ट्रीय
फाइल फोटो केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण लगातार तीसरे दिन आत्मनिर्भर भारत अभियान की योजनाएं बताती चली गईं। वित्त मंत्री शुक्रवार को एक घंटा 17 मिनट बोलीं और इस दौरान 11 घोषणाएं कीं। केंद्र में किसान थे। 8 घोषणाएं उन्हीं के बारे में थीं। खासकर खेती-किसानी के इन्फ्रास्ट्रक्चर और लॉजिस्टिक्स के बारे में। तीन घोषणाएं शासन-प्रशासन से जुड़ी थीं। इन 11 घोषणाओं में से 7 लागू कब होंगी, कुछ साफ नहीं कर गईं। तीन दिनों में, यानी बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को मिलाकर वित्त मंत्री 4 घंटे 21 मिनट बोल चुकी हैं। और इस दौरान 35 घोषणाएं कर चुकी हैं। मौजूदा हिसाब से लग रहा है कि शनिवार को भी वित्त मंत्री जरूर आएंगी। क्योंकि अब तक 20 लाख करोड़ का हिसाब पूरा नहीं हुआ है। जो प्रधानमंत्री बोल गए थे। ढाई लाख करोड़ रुपए अब भी बचे हुए हैं।   1. एग्रीकल्चर इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए 1 लाख करोड़ रुप
वर्ल्ड बैंक ने भारत को दिया सोशल प्रोटेक्शन पैकेज

वर्ल्ड बैंक ने भारत को दिया सोशल प्रोटेक्शन पैकेज

बाज़ार
कोविड-19 से जारी जंग में भारत को वर्ल्ड बैंक (World Bank) ने शुक्रवार को समर्थन देते हुए एक बिलियन डॉलर यानि 7500 करोड़ के सोशल प्रोटेक्शन पैकेज की मंजूरी दी है। वर्ल्ड बैंक ने यह मंजूरी गरीबों व महामारी के प्रति संवेदनशील परिवारों के लिए भारत सरकार के अनवरत प्रयासों को देखते हुए दिया है। वर्ल्ड बैंक ने गुरुवार को कहा था कि कोविड-19 (COVID-19) महामारी वैश्विक संकट है जिससे हर देश प्रभावित है। बैंक ने कहा, 'देशों को इस संकट में साथ देने के लिए हम काम कर रहे हैं, ताकि जितना अधिक संभव हो उतने अधिक देशों तक हमारी मदद पहुंचे।'
8 करोड़ प्रवासी मजदूरों को 2 महीने 5 Kg गेहूं या चावल और 1 Kg चना फ्री, अगस्त तक 67 करोड़ गरीब 1 देश-1 राशन कार्ड के दायरे में होंगे

8 करोड़ प्रवासी मजदूरों को 2 महीने 5 Kg गेहूं या चावल और 1 Kg चना फ्री, अगस्त तक 67 करोड़ गरीब 1 देश-1 राशन कार्ड के दायरे में होंगे

ट्रेंडिंग, बाज़ार, राष्ट्रीय
केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज के ब्रेकअप के दूसरे चरण की जानकारी देते हुए अप्रवासी मजदूर, स्ट्रीट वेंडर, छोटे व्यापारियों और किसानों के लिए 9 अहम घोषणाएं की। इनमें छोटे किसानों को बड़ी राहत दी गई है। उन्हें दिए जाने वाले कर्ज पर ब्याज में छूट की स्कीम 31 मई तक बढ़ा दी गई है। अपने घरों को लौट रहे अप्रवासी मजदूरों को वहीं पर काम दिया जाएगा। उन्हें अगले 2 महीने तक फ्री राशन दिया जाएगा। इसके तहत उन्हें 5 किलो गेहूं-चावल और 1 किलो चना मुफ्त मिलेगा। अगस्त तक देश में एक देश-एक राशन कार्ड योजना लागू होगी और इससे 67 करोड़ गरीबों को फायदा होगा। पहले चरण में छोटे व्यवसायों, रियल एस्टेट, संगठित क्षेत्र के वर्कर और अन्य लोगों के लिए करीब 6 लाख करोड़ की घोषणाएं की गई थीं। लोन की किश्त में तीन महीने की छूट का फायदा 3 करोड़ किसानों ने उठाया। इन किस
वित्त मंत्री के 15 ऐलान: 45 लाख छोटे उद्योगों को 3 लाख करोड़ का कर्ज, TDS में कल से 25% की कटौती; आयकर रिटर्न की तारीख 30 नवंबर तक बढ़ाई गई

वित्त मंत्री के 15 ऐलान: 45 लाख छोटे उद्योगों को 3 लाख करोड़ का कर्ज, TDS में कल से 25% की कटौती; आयकर रिटर्न की तारीख 30 नवंबर तक बढ़ाई गई

ट्रेंडिंग, बाज़ार, राजनीति
फाइल फोटो कोरोना संकट काल में 20 लाख करोड़ रुपए के आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 15 घोषणाएं कीं। इनमें 6 घोषणाएं छोटे-मझले उद्योगों के लिए, 3 टैक्स से जुड़ी, 2 इम्प्लॉई प्रॉविडेंट फंड पर, 2 नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों के लिए और एक-एक घोषणा पावर डिस्ट्रिब्यूशन कंपनियों और रियल एस्टेट सेक्टर के लिए थीं। इन घोषणाओं से किन्हें फायदा 45 लाख ऐसे उद्योगों को, जिनका टर्नओवर 100 करोड़ रुपए से कम है। 2 लाख ऐसे छोटे उद्योगों को, जो संकट में चल रहे हैं। 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने वाले रियल एस्टेट सेक्टर को। 10 लाख संस्थानों को, जिनके 5 करोड़ कर्मचारियों का पीएफ हर महीने जमा होता है। केंद्रीय वित्त मंत्री की डेढ़ घंटे की प्रेस कॉन्फ्रेंस में 15 घोषणाएं  1. इनकम टैक्स रिटर्न की तारीख 30 नवंबर तक बढ़ाई साल 2019-2020 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल क
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने 20 लाख करोड़ रुपयों को बताया राहत पैकज का ब्रेकअप

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने 20 लाख करोड़ रुपयों को बताया राहत पैकज का ब्रेकअप

ट्रेंडिंग, बाज़ार, राष्ट्रीय
फाइल फोटो केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोविड-19 के 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज का ब्रेकअप बताया। इस पैकेज का ऐलान प्रधानमंत्री ने मंगलवार को राष्ट्र के नाम दिए अपने संदेश में किया था। मोदी ने अपनी स्पीच में चार एल यानी लैंड, लेबर, लॉ और लिक्विडिटी पर फोकस किया था यानी पैकेज में इन्हें खास तवज्जो दिया जाना तय है। 12 लाख करोड़ रुपए के पैकेज का मिलेगा ब्रेकअप बता दें कि 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज का करीबन 8 लाख करोड़ रुपए पहले ही आरबीआई और सरकार ने जारी कर दिया था। अब 12 लाख करोड़ रुपए के पैकेज का ब्रेकअप दिया जाएगा। इसमें से 50,000 करोड़ रुपए टैक्स के लिए घोषित किए जा सकते हैं। जबकि पावर सेक्टर को करीबन एक लाख करोड़ रुपए जारी हो सकते हैं। इसी तरह देश के गरीबों के लिए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए एक बड़ी राशि का अलोकेशन हो सकता है। इसमें एनबीएफसी और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों
यूपी में श्रम कानून में बदलाव पर सरकार और विपक्ष में तकरार

यूपी में श्रम कानून में बदलाव पर सरकार और विपक्ष में तकरार

Breaking, अंतर्राष्ट्रीय, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, एक्सक्लूसिव, करियर, ट्रेंडिंग, बाज़ार, राजनीति, राष्ट्रीय, सम्पादकीय
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के श्रम कानून में बदलाव के लिए लाए गए अध्यादेश पर बवाल खड़ा हो गया। योगी सरकार ने सूबे में औद्योगिक इकाइयों, प्रतिष्ठानों और कारखानों को एक हजार दिन (यानी तीन साल) के लिए श्रम कानूनों में छूट दे दी है।यूपी सरकार इस छूट को श्रमिकों के हित में बता रही है, वहीँ सरकार के इस फैसले को लेकर विपक्ष हमलावर हो गया है, कांग्रेस , समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने योगी सरकार के खिलाफ इस मुद्दे पर मोर्चा खोल दिया है, और सरकार की मंशा पर सवाल खड़े कर रहा है। वहीँ योगी सरकार भी विपक्ष के हमलों का जवाब देने में जुट गई है। योगी सरकार के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि घड़ियाली आंसू बहाने वाले पहले अध्यादेश पढ़ लें, फिर कोई टिप्पणी करें। उन्होंने विपक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी (एसपी) श्रमिकों की सबसे बड़ी दुश्मन हैं क्योंकि वे उन श
आदर्श व्यापार मंडल के बैनर तले व्यापारियों ने पुष्प वर्षा कर कोरोना योद्धाओं का किया सम्मान

आदर्श व्यापार मंडल के बैनर तले व्यापारियों ने पुष्प वर्षा कर कोरोना योद्धाओं का किया सम्मान

उत्तर प्रदेश, बाज़ार
फाइल फोटो रहीम नगर आदर्श व्यापार मंडल के बैनर तले शुक्रवार को व्यापारियों ने पुष्प वर्षा कर करोना योद्धाओं का किया सम्मान * स्वास्थ्य कर्मचारियों, बिजली विभाग के कर्मचारियों एवं सफाई कर्मचारियों का रहीम नगर के व्यापारियों ने पुष्प वर्षा कर सम्मान करते हुए उनके योगदान पर आभार व्यक्त किया  लखनऊ. उत्तर प्रदेश आदर्श व्यापार मंडल ,रहीम नगर के बैनर तले शुक्रवार को संगठन के अध्यक्ष मसीह उज्जमा गांधी एवं कार्यवाहक अध्यक्ष मोहम्मद सोहराब के नेतृत्व में सिविल अस्पताल महानगर, बिजली विभाग महानगर, एवं रहीम नगर चौराहे पर कार्यक्रम आयोजित कर स्वास्थ्य कर्मचारियों , विद्युत विभाग के कर्मचारियों एवं सफाई कर्मचारियों पर पुष्प वर्षा कर तथा उन्हें हैंड ग्लव्स ,सैनिटाइजर, मास्क वितरित कर उनका आभार व्यक्त किया गया व्यापारी नेता मशीहउजजमा गांधी ने कहा करोना के इस संकट में विद्युत कर्मचारियों की, सफाई