Shadow

राजनीति

मोदी मंत्रिमंडल में फेरबदल, BJP की ब्राह्मण वोटों को बांधे रखने की कोशिश

मोदी मंत्रिमंडल में फेरबदल, BJP की ब्राह्मण वोटों को बांधे रखने की कोशिश

उत्तर प्रदेश, राजनीति, राष्ट्रीय
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंत्रीपरिषद का आकार अब बड़ा हो गया है। केंद्रीय मंत्रीपरिषद में बुधवार को विस्तार और फेरबदल किया गया। इसमें 36 नए चेहरों को शामिल किया गया है जबकि सात वर्तमान राज्यमंत्रियों को प्रमोट कर मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। आठ नए चेहरों को भी कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के दरबार हॉल में आयोजित एक समारोह में मंत्रिपरिषद में शामिल किए गए सभी 43 सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। इन सभी मंत्रियों के विभागों का बंटवारा भी कर दिया गया है। मोदी मंत्रिमंडल में बुधवार को हुए फेरबदल में उत्तराखंड से 2019 में नैनीताल-उधमसिंह नगर लोकसभा सीट से सांसद चुने गए अजय भट्ट को राज्यमंत्री के रूप में जगह मिली है| बीजेपी ने खासतौर पर कुमाऊं के ब्राह्मणों को साधने के लिए यह फैसला लिया है| क्योंकि कुमाऊं क्षेत्र बीजेपी के लिए चुनौती ब...
अंबेडकर स्मारक का शिलान्यास करेंगे राष्ट्रपति, 45 करोड़ की लागत से होगा तैयार

अंबेडकर स्मारक का शिलान्यास करेंगे राष्ट्रपति, 45 करोड़ की लागत से होगा तैयार

उत्तर प्रदेश, राजनीति
आगामी विधानसभा चुनाव को जीतने के लिए सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती है. योगी सरकार की नजर दलित वोट पर भी है. दलित वोटों को साधने के लिए सरकार राजधानी लखनऊ में भारत रत्न बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के नाम पर स्मारक बनवाने जा रही है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज अंबेडकर स्मारक का शिलान्यास करेंगे. बता दें कि शुक्रवार को ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दी थी. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अभी यूपी के दौरे पर हैं. राष्ट्रपति सुबह 11 बजे विधानसभा के ठीक सामने स्थित लोकभवन सभागार में इसका शिलान्यास करेंगे. इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी मौजूद रहेंगे. भीमराव अंबेडकर के नाम पर बनने वाले स्मारक का नाम अंबेडकर सांस्कृतिक सेंटर दिया जाएगा. अंबेडकर सांस्कृतिक सेंटर में बाबा साहेब की 25 फीट की मूर्ति स्थापित की जाएगी. स्मारक ...
उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने बीजेपी से पूछा सवाल, सरकार मेरे साथ है या कुलदीप सेंगर के?

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने बीजेपी से पूछा सवाल, सरकार मेरे साथ है या कुलदीप सेंगर के?

उत्तर प्रदेश, राजनीति
भाजपा ने उन्नाव से जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह को आज टिकट दिया है जिसके बाद चर्चाओं का बाजार गरम हैं| बता दें की अरुण सिंह उन्नाव रेप कांड आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर का करीबी भी मन जा रहा है| वहीं बीजेपी के निर्णय पर माखी गैंगरेप की पीड़िता ने पार्टी और अरुण सिंह को कटघरे में खड़ा कर दिया है| उन्नाव रेप कांड की पीड़िता ने अरुण सिंह पर भी आरोप लगाया है और कहा की अरुण सिंह मुझे जान से मरना चाहते हैं| गौरतलब है की रेप कांड पीड़िता के परिवार वालों का जब एक्सीडेंट हुआ था तो अरुण सिंह को आरोपी बनाया गया था| वही अब पीड़िता ने प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री और राष्ट्रपति को पत्र भी लिखा हैं| और कहा है की भाजपा उन लोगों को टिकट दे रही है जो मुझे जान से मारना चाहते हैं| पीड़िता ने एक वीडियो जारी कर यह भी पूछा है कि भाजपा सरकार मेरे साथ है या दोषी कुलदीप सेंगर के साथ? भारतीय जनता पार्टी दोषियों को टिक...
बीजेपी ने बनाया 2022 के एजेंडे पर रोडमैप,  चुनाव में उतरेगी 300 पार के नारे के साथ

बीजेपी ने बनाया 2022 के एजेंडे पर रोडमैप, चुनाव में उतरेगी 300 पार के नारे के साथ

Uncategorised, उत्तर प्रदेश, राजनीति, राष्ट्रीय
उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ बीजेपी का चुनावी अभियान शुरू होने से पहले बैठक का दौर जारी है. मंगलवार का दिन बीजेपी के लिए गहमागहमी भरा रहा. पूरे दिन बीजेपी के अंदर हलचल रही. बीजेपी मुख्यालय पर पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष और प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह की मौजूदगी में योगी आदित्यनाथ के साथ बीजेपी कोर कमेटी की बैठक हुई, जो देर रात तक चली. इस बैठक में मिशन 2022 के रोडमैप को लेकर विस्तृत चर्चा हुई. बैठक में निर्णय लिया गया कि अगले साल के चुनाव में पार्टी संगठन 300 पार के नारे के साथ चुनाव मैदान में उतरेगा. बीएल संतोष और राधामोहन सिंह फिर से लखनऊ पहुंचे हुए हैं. वह दो दिन के दौरे पर यहां आए हैं. उनके आने के बाद बीजेपी में हलचल बढ़ गई. मंगलवार को कई बैठकें हुई. पहले बीएल संतोष और राधामोहन सिंह ने पार्टी पदाधिकारियों के साथ बातचीत की. इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ...
सीएम योगी का केशव प्रसाद मौर्या के घर लंच….. क्या है इसका सियासी मायने?

सीएम योगी का केशव प्रसाद मौर्या के घर लंच….. क्या है इसका सियासी मायने?

उत्तर प्रदेश, राजनीति
राजधानी में मंगलवार को तेजी से चले सियासी घटनाक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत संघ और भाजपा के दिग्गज नेताओं ने डिप्टी सीएम केशव मौर्य के घर पहुंचकर लंच किया जिसके बाद कई तरह की ख़बरें सामने आने लगी| वही इस लंच को ये भी कहा जा रहा है की इसके माध्यम से पार्टी में एकजुटता का संदेश देने की कोशिश की गई है। गौरतलब है की साढ़े चार साल में यह पहला मौका था जब सीएम योगी मौर्य के आवास पर गए। बता दें की जिस तरह से केशव मौर्य के आवास पर सीएम योगी समेत संघ और भाजपा के दिग्गज नेताओं का जमावड़ा हुआ उससे यह साफ संकेत मिला कि यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर संघ और भाजपा नेतृत्व किसी तरह का जोखिम उठाने को तैयार नहीं है। चुनावी रणनीतिकार लोगों के बीच यह संदेश नहीं जाने देना चाहते कि पार्टी में खींचतान या नेताओं के बीच किसी तरह का मनमुटाव हैं। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) बी.एल. संतोष, आरएसएस...
बसपा सुप्रीमो मायावती ने फिर किया पीएम मोदी का समर्थन, जानिए क्या कहा

बसपा सुप्रीमो मायावती ने फिर किया पीएम मोदी का समर्थन, जानिए क्या कहा

उत्तर प्रदेश, राजनीति
बसपा सुप्रीमो मायावती ने जम्मू-कश्मीर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल की तारीफ की है. मायावती ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ जम्मू कश्मीर के नेताओं की होने वाली बैठक का स्वागत किया. साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि इस बैठक में जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने को लेकर कुछ ठोस पहल की जाएगी. बता दें कि कल 24 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम्मू-कश्मीर के 14 प्रमुख नेताओं के साथ बैठक होने वाली है. बसपा अध्यक्ष मायावती ने ट्वीट किया, 'सीधे पीएम श्री नरेंद्र मोदी के स्तर पर जम्मू-कश्मीर के संबंध में वहां के 14 लीडरों की कल 24 जून की बैठक उचित पहल. करीब दो वर्ष के अंतराल के बाद की यह बैठक कुछ ठोस फैसलों के साथ सार्थक सिद्ध होगी व जम्मू-कश्मीर राज्य की पुनः बहाली आदि के लिए भी मददगार साबित होगी, ऐसी आशा.' उन्होंने आगे लिखा, 'साथ ही जम्मू-कश्मीर विधानस...
पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने बीजेपी पर बोला हमला, कहा-अपना मुंह छिपा रही है सरकार

पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने बीजेपी पर बोला हमला, कहा-अपना मुंह छिपा रही है सरकार

उत्तर प्रदेश, राजनीति
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला है| अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में कोरोना काल के दौरान हुई मौतों को लेकर सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं| अखिलेश ने ट्वीट के माध्यम से कहा है कि 9 महीनों में यूपी के 24 जिलों में सरकार ने जो मृत्यु के आंकड़े दिखाए हैं, वो असल आंकड़ों से कई गुना कम हैं| सरकार मृत्यु के आंकड़े नहीं अपना मुंह छिपा रही है| अखिलेश ने ट्वीट किया है, “सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी से ये भंडाफोड़ हुआ है कि 31 मार्च, 2021 तक के कोरोनाकाल में 9 महीनों में उप्र के 24 ज़िलों में मृत्यु का आंकड़ा सरकार द्वारा दिये गये आंकड़ों से 43 गुना तक अधिक है. भाजपा सरकार मृत्यु के आंकड़े नहीं दरअसल अपना मुंह छिपा रही है|” इससे पहले अखिलेश यादव ने सोमवार को कहा था कि भाजपा सरकार में उत्तर प्रदेश की बदहाली की इबारत लिख दी गई है, जनता त्रस्त है, कानून व्यवस्था ध्वस्त है...
यूपी के सियासी गलियारों में हलचल तेज़, बीएल संतोष व राधामोहन की बैठक जारी

यूपी के सियासी गलियारों में हलचल तेज़, बीएल संतोष व राधामोहन की बैठक जारी

उत्तर प्रदेश, राजनीति
2022 विधासभा चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश में सियासत को लेकर हाईलेवल मीटिंग शुरू हो गई है। भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महासचिव बीएल संतोष लखनऊ पहुंच गए हैं। बीएल संतोष का एक महीने में दूसरा लखनऊ दौरा है। भाजपा के पदाधिकारियों के साथ सरकार के मंत्रियों से भी आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर मंथन करेंगे। UP प्रभारी राधा मोहन सिंह भी मौजूद हैं। यहां प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश के संगठन महामंत्री सुनील बंसल मौजूद हैं। कुछ ही देर में बैठक होगी। इससे पहले बीएल संतोष और राधामोहन सिंह 31 मई से 2 जून तक लखनऊ में थे। बाद में 6 जून को भी लखनऊ आए राधामोहन सिंह ने प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल तथा विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से मुलाकात की थी। वहीं, दौरे से ठीक एक दिन पहले यानी रविवार (20 जून) भाजपा में एक अहम बैठक हुई थी। इस वर्चुअल बैठक में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव...
PM मोदी के करीबी एके शर्मा को नहीं मिला मंत्रालय, लम्बे वक्त से थी चर्चा

PM मोदी के करीबी एके शर्मा को नहीं मिला मंत्रालय, लम्बे वक्त से थी चर्चा

उत्तर प्रदेश, राजनीति, राष्ट्रीय
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  के करीब रहे एके शर्मा को उत्तर प्रदेश में संगठन में एक पद देकर अटकलों पर विराम लगा दिया. एके शर्मा को प्रदेश उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी पार्टी ने सौंपी है. इसके साथ ही प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अर्चना मिश्रा और अमित बाल्मीकि को प्रदेश मंत्री नियुक्त किया है. मालूम हो कि गुजरात कैडर के 1988 बैच के आईएएस अरविंद कुमार शर्मा को 14 जनवरी 2021 उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने बीजेपी (BJP) की सदस्यता दिलाई थी. क्योंकि अरविंद कुमार शर्मा पीएम नरेंद्र मोदी के नजदीकी लोगों में शुमार रहे हैं और वह एकाएक वीआरएस लेकर यूपी में एमएलसी चुनाव के बीच बीजेपी से जुड़े. फिर वे विधान परिषद के सदस्य बनाए गए. ऐसे में उनकी दूसरी बड़ी भूमिकाओं तक के कयास लगने लगे. घटनाक्रम के बाद संगठन से लेकर सरकार ...
सरकार और संगठन की थाह लेने फिर यूपी आएंगे बीएल संतोष

सरकार और संगठन की थाह लेने फिर यूपी आएंगे बीएल संतोष

उत्तर प्रदेश, राजनीति
यूपी बीजेपी संगठन और सरकार की थाह लेने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष फिर लखनऊ आ रहे हैं। वह 21 और 22 जून को प्रदेश बीजेपी के पदाधिकारियों और सरकार के मंत्रियों के साथ बैठेंगे और पता करेंगे कि पिछले दौरे में उन्हें जितना ‘होमवर्क’ दिया गया था, उस पर कितना काम हुआ है। संतोष का यह इस महीने में दूसरा दौरा है। वह बीती 31 मई को राजधानी आए थे और दो जून तक रुके थे। बीएल संतोष ने पिछले दौरे में यूपी बीजेपी और सरकार को लक्ष्य दिया था कि वे कार्यकर्ताओं की चिंता करें। कोरोना ने जिन कार्यकर्ताओं की जान ले ली है, उनके घर जाएं और उनके परिवार की हर संभव मदद करें। सभी से जिलों में दौरा करने को भी कहा गया था और सरकार में निगमों, आयोगों के साथ अन्य खाली पदों पर मनोनयन करने पर भी उन्होंने जोर दिया था। सूत्रों का कहना है कि संगठन ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है कि उनके जाने के बाद...