Shadow

उत्तराखंड

सीएम योगी की श्रमिकों से भावुक अपील, जहाँ हैं वहीँ रहे, सरकार आपको वापस लाने की कर रही है तैयारी 

सीएम योगी की श्रमिकों से भावुक अपील, जहाँ हैं वहीँ रहे, सरकार आपको वापस लाने की कर रही है तैयारी 

Breaking, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजनीति, राष्ट्रीय
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के चलते देश के कई राज्यों में मजदूर फंस कर रह गए हैं. दूसरे राज्यों में 25 मार्च से फंसे मजदूरों के सब्र का बांध अब टूटने लगा है और सभी मजदूर अपने घरों की ओर पैदल ही निकलने लगे हैं. ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश में देखने को मिला जहाँ चंडीगढ़ से बलरामपुर के लिए 900 किलोमीटर पैदल यात्रा कर भूखे-प्यासे 5 दिहाड़ी पर मजदूर बुधवार को यूपी के लखीमपुर खीरी में पहुंचे. यह खबर जैसे सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लगी तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी राज्यों में फंसे यूपी के कामगारों और श्रमिकों से भावुक अपील करते हुए कहा है कि संबंधित राज्यों की सरकारों से संपर्क कर सभी को घरों तक सुरक्षित पहुंचाने की विस्तृत कार्ययोजना तैयार हो रही है, इसलिए जहां हैं, वहीं रहें. राज्य सरकारों के संपर्क में रहें, पैदल न चलें. घर वापसी के लिए यूपी सरका...
कोरोना महामारी को उत्तराखंड में नियंत्रित करने में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने निभाई बड़ी भूमिका

कोरोना महामारी को उत्तराखंड में नियंत्रित करने में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने निभाई बड़ी भूमिका

उत्तराखंड, राष्ट्रीय
फाइल फोटो- पूरी दुनिया कोरोना वायरस का दंश झेल रही है, कई जगह मौत का आंकड़ा हजारों में है, वहीँ उत्तराखंड कोरोना महामारी को नियंत्रित रखने में सफल रहा है, कोरोना महामारी को नियंत्रण करने में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की बड़ी भूमिका है, मुख्यमंत्री की इच्छा शक्ति, कड़े फैसले और दूरदर्शिता का परिणाम है कि आज उत्तराखंड कोरोना जैसी महामारी काबू में है। हालाँकि मुख्यमंत्री ने इसके लिए प्रदेशवासियों को धन्यवाद दिया है, उन्होंने कहा कि प्रदेशवासियों के सहयोग के कारण ही हम कोरोना महामारी को नियंत्रित रखने में सफल रहे हैं। इसमें कोरोना वॉरियर्स अपनी पूरी निष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निवर्हन कर रहे हैं। प्रदेश के लोगों ने मजबूत इच्छाशक्ति और अनुशासन का परिचय देते हुए सरकार का सहयोग किया है। इसके लिए मैं प्रदेशवासियों को धन्यवाद देता हूं। आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं की कमी न...
सीएम योगी ने टीवी पर देखी पिता की अंतिम विदाई,दी श्रद्धांजलि

सीएम योगी ने टीवी पर देखी पिता की अंतिम विदाई,दी श्रद्धांजलि

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड
लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का मंगलवार को उत्तराखंड के उनके गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया। योगी आदित्यनाथ लॉक डाउन के चलते उनके अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हुए। उन्होंने टीवी पर ही उनकी अंतिम विदाई के दृश्य देख कर नमन किया। इसके बाद मुख्यमंत्री अपने आवास पर उस हाल में पहुंचे, जहां टीम 11 के अधिकारी मीटिंग के लिये उनका इंतज़ार कर रहे थे। यहां सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ टीम 11 के सभी सदस्यों ने दो मिनट मौन रख दिवंगत पिता को श्रद्धांजलि दी। आपको बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ अपने पिता के अंतिम संस्कार में नहीं पहुंचे। सीएम योगी ने कल कहा था कि अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में लॉकडाउन की सफलता तथा महामारी कोरोना को परास्त करने की रणनीति के कारण भाग नहीं ले पा रहा हूं। पूजनीया मां, पूर्वाश्रम से जुड़े सभी सदस्यों से भी अपील है कि वे लॉकडाउन का पालन करते हुए क...
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता की निधन के बाद नेताओं ने ट्विटर पर दी श्रद्धांजलि 

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता की निधन के बाद नेताओं ने ट्विटर पर दी श्रद्धांजलि 

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड
लखनऊ :उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का सोमवार सुबह दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में निधन हो गया। एम्स के मुताबिक, सुबह 10:44 पर सीएम योगी के पिता ने अंतिम सांस ली। अब शव को पैतृक गांव पंचूर (उत्तराखंड) ले लाया जा रहा है। एम्‍स ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट के निधन की पुष्‍टि कर दी है। बताया जा रहा है कि सोमवार सुबह उन्‍हें लाइफ सपोर्ट सिस्‍टम पर एंबुलेंस के जरिये उत्तराखंड में पैतृक गांव पंचूर में शिफ्ट करने की तैयारी चल रही थी। उनकी हालत बेहद गंभीर थी। इस बीच उनका निधन हो गया। सीएम के पिता के निधन पर यूपी सहित अन्य जगहों के नेताओं ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। गौरतलब है कि सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट बतौर फॉरेस्ट रेंजर अपनी सेवाएं दे चुके थे। सेवानिवृत्ति के बाद से वह अपने पैतृक गांव में...
CM योगी आदित्यनाथ के पिता का हुआ निधन, 89 साल की उम्र में एम्स में ली आखिरी सांस

CM योगी आदित्यनाथ के पिता का हुआ निधन, 89 साल की उम्र में एम्स में ली आखिरी सांस

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, ट्रेंडिंग
फाइल फोटो- सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता का हुआ निधन, 89 साल की उम्र में एम्स में ली आखिरी सांस लखनऊ/ यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता का आज निधन हो गया. बताया जा रहा है कि एम्स में इलाज के दौरान आज सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर उन्होंने आखिरी सांस ली. इस बारे में सीएम योगी को तब सूचना दी गई है. जब वह कोरोना संकट पर बनी टीम-11 की मीटिंग कर रहे थे..अब उनके शव को पैतृक गांव पंचूर उत्तराखंड ले जाया जा रहा है। बता दें कि एम्स में भर्ती सीएम योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट की हालत पिछले कुछ दिनों से गंभीर बताई जा रही थी, उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। उन्हें किडनी और लिवर की समस्या थी। जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था...सीएम पिता के निधन जहां एक ओर पार्टी कार्यकर्ताओं में शोक की लहर है तो वहीं विभिन्न राजनीतिक दलों ने शोक संवेदना व्यक्त की है..पूर्व सीएम अखिलेश यादव समेत कई नेताओ...
कोरोना लॉकडाउन में इस हथकंडों से ऐंठ रहे रकम

कोरोना लॉकडाउन में इस हथकंडों से ऐंठ रहे रकम

Breaking, Uncategorised, अंतर्राष्ट्रीय, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, एक्सक्लूसिव, ट्रेंडिंग, बाज़ार, राष्ट्रीय
लखनऊ। हैलो, मैं जवाहर भवन से बोल रहा हूं। आपकी ऑनलाइन पे-स्लिप बननी है। जल्दी से अपने खाते की डिटेल व जन्मतिथि बताएं, वरना आगामी महीनों का वेतन फंस जाएगा। वेतन रुकने की बात सुनकर कर्मचारी बिना कुछ सोचे समझे अपने खाते की गोपनीय जानकारी बता देते हैं और ठग उनके खाते से रुपये गायब कर दे रहे हैं। लॉकडाउन होने के बाद से साइबर ठगों ने कुछ ऐसे हथकंडे अख्तियार किए हैं, जिसमें लोग आसानी से फंसकर जमा पूंजी गंवाए दे रहे हैं। कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन में अधिकांश सरकारी व निजी कंपनियों ने वर्क फ्रॉम होम व्यवस्था लागू कर दी है, जिसके तहत कर्मचारी घर से ही काम कर रहे हैं। इन कर्मचारियों से खाते की जानकारी हासिल करने के लिए ठगों ने ऑनलाइन पे-स्लिप का तरीका इजात किया है। चिनहट की गौरव विहार कालोनी में रहने वाले सतीश कुमार के पास 28 मार्च को इसी तरह की कॉल आई। आरोपी ने खुद को जवाहर भवन स्थित ट्रेज...
कोरोना वॉरियर्स के साथ किसी भी प्रकार का दुर्व्यवहार नहीं किया जाएगा बर्दाश्त- कैबिनेट मंत्री

कोरोना वॉरियर्स के साथ किसी भी प्रकार का दुर्व्यवहार नहीं किया जाएगा बर्दाश्त- कैबिनेट मंत्री

उत्तराखंड
  देहरादून- कोरोना जैसी वैश्विक महामारी में कोरोना वॉरियर्स अपनी जान को जोखिम में डालकर रात दिन जनता की सेवा में लगे हुए हैं...इन्ही कोरोना वारियर्स के सम्मान में उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री नगर विकास मदन कौशिक और मेयर सुनील उनियाल गामा ने कोविड -19 पर नियंत्रण के लिये लगाए जाने वाले अग्रिम पंक्ति के कोरोना वारियर्स को सम्मानित करने के उद्देश्य से सफाई कार्मिको को सम्मानित किया। कोरोना वॉरियर्स को सम्मानित करते हुई मदन कौशिक ने कहा कि हमे यह सन्देश देना है कि अग्रिम पंक्ति पर लड़ाई लड़ने वाले कार्मिको की पूर्ण सुरक्षा करते हुये उनका पर्याप्त सम्मान किया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि इनके साथ किसी भी प्रकार के दुर्व्यवहार को कतई बर्दास्त नहीं किया जाएगा...वहीं मेयर सुनील उनियाल गामा ने कहा कि पूरे नगर में 24 घण्टे सफाई कार्मी कार्य कर रहे है। इनकी सुरक्षा के लिये मास्क और ग्लब्ज भी दि...
बागेश्‍वर- पचास हजार की अवैध देसी शराब पुलिस ने की बरामद

बागेश्‍वर- पचास हजार की अवैध देसी शराब पुलिस ने की बरामद

उत्तराखंड
बागेश्‍वर जिले में एक होटल से पुलिस ने करीब पचास हजार रुपए की अवैध देसी शराब बरामद की है। 11 पेटी बाजपुर गुलाब देसी मसालेदार शराब के साथ एक आरोपित को गिरफ्तार किया गया है। आरोपित को कोर्ट में पेश करने की तैयारी की जा रही है। एसपी रचिता जुयाल के आदेश पर पुलिस ने अवैध शराब, मादक पदार्थों के विरुद्ध अभियान चलाया। वाहन चेकिंग के दौरान मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने भागीरथी के पास आरोपित प्रदीप भट्ट पुत्र प्रताप भट्ट के होटल से 11 पेटी (528 पव्वे) बाजपुर गुलाब देसी मसालेदार शराब पकड़ी। आरोपित प्रदीप को गिरफ्तार करने के साथ ही शराब को सीज कर दिया गया है। कोतवाल ने बताया कि आरोपित के खिलाफ धारा-60 आबकारी अधिनियम का अभियोग पंजीकृत किया गया है। बरामद शराब की अनुमानित कीमत करीब पचास हजार रुपए है। आरोपित को अदालत में पेश किया जाएगा। गिरफ्तार करने वाली टीम में उपनिरीक्षक मीना रावत, कांस्टेबल राकेश ...
CoronaVirus: मेडिकल छात्रों का छुट्टी को लेकर एम्स ऋषिकेश में हंगामा

CoronaVirus: मेडिकल छात्रों का छुट्टी को लेकर एम्स ऋषिकेश में हंगामा

उत्तराखंड
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में कोरोना वायरस की दहशत के बीच मेडिकल के छात्रों ने देर रात तक हंगामा काटा। छुट्टी की मांग को लेकर हंगामा कर रहे छात्रों को एम्स प्रशासन ने देर रात शांत करा दिया। एम्स ऋषिकेश में बुधवार की देर रात छुट्टी की मांग को लेकर करीब 150 मेडिकल स्टूडेंट कॉलेज कैंपस में उतर आए। छात्रों ने रात करीब 10 बजे प्रदर्शन शुरू कर दिया। छात्रों का कहना था कि जब देश भर में अधिकतर कॉलेजों को बंद कर दिया गया है तो फिर उन्हें क्यों छुट्टी नहीं दी जा रही है। ज्यादातर एम्स में छुट्टियां घोषित कर दी गईं हैं। आरोप है कि कॉलेज प्रशासन द्वारा घर वालों को मेल का भी जवाब नहीं दिया जा रहा है। छात्रों का कहना था कि वे मेडिकल के स्टूडेंट्स हैं, इसलिए उनका अस्पताल में आनाजाना लगा रहता है। छात्रों का आरोप है कि स्वास्थ मंत्रालय के आदेश और मानकों का इस मामले में अनुपालन नहीं हो रह...