Shadow

किसान आंदोलन: हिरासत में ली गईं प्रियंका गांधी

किसान आंदोलन: राष्ट्रपति से मिलने पहुंचे राहुल

कृषि कानून के मसले पर कांग्रेस पार्टी का हल्ला बोल जारी है| कांग्रेस सांसद राहुल गांधी राष्ट्रपति से मिलने पहुंचे हैं| दूसरी ओर मार्च में शामिल प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में ले लिया गया है| कांग्रेस नेता राहुल गांधी तीन नेताओं के साथ किसान आंदोलन को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने पहुंचे हैं| (किसान आंदोलन) कांग्रेस के मार्च को निकालने की इजाजत नहीं दी गई, जिसके बाद प्रियंका गांधी वाड्रा समेत अन्य कई नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है|

किसान आंदोलन: कांग्रेस को नहीं मिली राष्ट्रपति भवन तक मार्च की अनुमति

बता दें की नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में कांग्रेस के राष्ट्रपति भवन तक मार्च को पुलिस ने रोक दिया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पौने दो करोड़ किसानों के हस्ताक्षर के साथ राष्ट्रपति भवन तक मार्च का ऐलान किया था| लेकिन पुलिस ने इसकी इजाजत नहीं दी। पुलिस ने कांग्रेस मुख्यालय के बाहर धारा 144 लगाते हुए केवल तीन कांग्रेस नेताओं को राष्ट्रपति से मुलाकात की इजाजत दी।

कांग्रेस का सुबह साढ़े 11 बजे राष्ट्रपति भवन तक मार्च का कार्यक्रम था, लेकिन पुलिस ने इसकी इजाजत नहीं दी। राहुल और प्रियंका गांधी ने इसके बाद आधे घंटे तक कांग्रेस मुख्यालय के लॉन में बैठकर मार्च की रणनीति बनाई। पुलिस नहीं मानी। तो प्रियंका गांधी जबरन सड़क पर उतर आईं और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ मार्च निकालने की कोशिश करने लगीं। इसके बाद पुलिस ने उन्हें और बाकी कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। पुलिस प्रियंका को मंदिर मार्ग थाने ले गई।

किसान आंदोलन:  पुलिस ने लगाई धारा 144

दिल्ली पुलिस के अडिशनल डीसीपी दीपक यादव ने इस संबंध में जानकारी दी है। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस नेताओं को राष्ट्रपति भवन तक मार्च की अनुमित नहीं दी गई है। हालांकि 3 नेताओं को राष्ट्रपति से मिलने के लिए जाने दिया जाएगा।’ बताया जा रहा है कि कांग्रेस के राष्ट्रपति भवन मार्च से पहले पार्टी मुख्यालय के पास धारा 144 लगा दी गई है।

youtubehttps://youtu.be/_xKPFF1aPXs

टाइटल विवाद पर करण ने मधुर भंडारकर से मांगी माफी, लिखा पोस्ट

https://lnvindia.com/karan-apologizes…spute-wrote-post/

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *