Shadow

पूर्व सीएम हरीश रावत ने की बैलगाड़ी की सवारी, डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमत का किया विरोध

फाइल फोटो

पूर्व सीएम हरीश रावत ने की बैलगाड़ी की सवारी, डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमत का किया विरोध

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोमवार को अपने समर्थकों के साथ मिलकर राज्य और केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।  विरोधस्वरूप हरीश रावत ने बैलगाड़ी की सवारी की और उनके पीछे पीछे दर्जनों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने भी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। ये प्रदर्शन सरकार द्वारा डीजल और पेट्रोल की कीमतें बढ़ाने के खिलाफ किया गया। इस प्रदर्शन में केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर आरोप प्रत्यारोपों के साथ रैली की शक्ल में कांग्रेस के कार्यकर्ता अपने चहेते नेता हरीश रावत के पीछे पीछे चल रहे थे और नारेबाजी कर रहे थे। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सरकार को जनता का जरा भी ख्याल नहीं है एक तो कोरोना संकट के चलते लोगों का रोजगार छिन रहा है तो वहीं सरकार तेल के दामों में वृद्धि करके जनता को दोहरी मार दे रही है।
बता दें कि हरीश रावत 21 दिन पहले दिल्ली से देहरादून लौटे थे। कल रविवार को उनका कोरेंटीन पीरियड खत्म हुआ। रावत ने खुद ही खुद को कोरेंटीन करने का फैसला किया था और वे 21 दिन तक होम क्वाररेंटीन रहे। रविवार को क्वारेंटीन की अवधि पूरे होने पर हरीश रावत ने कहा कि वह सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए आगे के कार्यक्रम करेंगे। उन्होंने कहा था कि वे सबसे पहले भगवान भोले के दरबार में जाएंगे। सोमवार को हरीश रावत ने ऐसा ही किया। वे रायपुर में भोले बाबा के मंदिर में माथा टेकने के बाद कार्यकर्ताओं के बीच गए। लेकिन वे इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना भूल गए। मंदिर से निकले के बाद कार्यकर्ताओं ने उन्हें फूल के बुके भेंट किए, मालाएं पहनाईं। इस दौरान किसी ने भी सामाजिक दूरी का ख्याल नहीं रखा। और तो और खुद हरीश रावत ने भी इस पर ध्यान नहीं दिया।
इसके बाद जब बैलगाड़ी पर हरीश रावत सवार हुए तो लोग उनके आस पास दिखे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *