Shadow

गोरखपुर: पार्षद प्रतिनिधि ने लगाया चिड़ियाघर के रेंजर और गार्ड पर पीटने का आरोप

पार्षद प्रतिनिधि का चिडि़याघर के रेंजर और गार्ड पर पीटने का आरोप

गोरखपुर। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के 28 मार्च को लोकार्पण के तीन दिन बाद ही शहीद अशफाक उल्‍ला खां प्राणि उद्यान में विवाद की स्थिति उत्‍पन्‍न हो गई। चिड़ियाघर के बाहर बेतरतीब वाहनों के खड़े होने से अव्‍यवस्‍था की आसपास के लोगों की शिकायत के बाद पहुंचे पार्षद प्रतिनिधि ने चिड़ियाघर के रेंजर और गार्ड के पर उलझने का आरोप लगाया। इस बीच पार्षद प्रतिनिधि के पक्ष में जुटे सैकड़ों लोगों की भीड़ से घबराए गार्ड की लोडेड बंदूक उसके हाथ से छूटकर जमीन पर गिरने से गार्ड के गोली लग गई।

पार्षद प्रतिनिधि अरविंद निषाद ने बताया कि रेंजर सुनील राव ने उनका कॉलर पकड़कर उनकी पिटाई कर दी। उनके साथ एक स‍िपाही अभिषेक और आजाद भी थे। इसके अलावा अन्‍य लोगों का वे नाम नहीं जानते हैं। अरविंद का आरोप है कि तीनों लाठी-डंडे से उन्‍हें मारने पीटने लगे। परिचय देने के बाद भी उन्‍हें लाठी-डंडे से मारते रहे. उसके बाद स्‍थानीय पुलिस मौके पर पहुंची. उन्‍होंने बताया कि रामगढ़ताल थाने पर उन्‍होंने तहरीर दे दी है. लेकिन, अभी उनका मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है. न ही आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है। पार्षद प्रतिनिधि ने कहा कि उनकी जब तक गिरफ्तारी और निलंबन नहीं होगा, तब तक वे चुप नहीं बैठेंगे। शहीद अशफाक उल्‍ला खां प्राणि के निदेशक डा. एच. राजामोहन ने बताया कि पार्किंग को लेकर कुछ लोगों से विवाद हुआ है. इसमें उनके रेंजर गए और विवाद ज्‍यादा हो गया। रामगढ़ताल पुलिस भी मौके पर पहुंच गई. इसकी पड़ताल की जा रही है। इसके साथ ही जानकारी भी जुटाई जा रही है कि किसकी ओर से गलती हुई है. उन्‍होंने कहा कि जहां तक गार्ड की बंदूक से गोली चलने का सवाल है. वे ट्रेंड होते हैं. सैनिक कल्‍याण बोर्ड से वार्ता के बाद एक्‍पर्ट गार्ड को ड्यूटी पर लगाया जाएगा।

 

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *