Shadow

19 दिसंबर का इतिहास: पढ़िए आज के दिन हुई महत्वपूर्ण घटनाएं

20जनवरीकाइतिहास

19 दिसंबर के इतिहास से अच्छा शिक्षक कोई दूसरा हो नहीं सकता. 19 दिसंबर का इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है बल्कि इन घटनाओं से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं. इसी कड़ी में जानेंगे आज 19 दिसंबर को देश-दुनिया में क्या हुआ था, कौन सी बड़ी घटनाएं घटी थीं जिसने इतिहास के पन्नों पर अपना प्रभाव छोड़ा. जानेंगे, आज के दिन जन्में खास व्यक्तियों के बारे में और बात करेंगे उनकी जो दुनिया से इस दिन विदा होकर चले गए.

19 दिसंबर को हुई महत्वपूर्ण घटनाएं-

1842 – अमेरिका ने हवाई को प्रांत के रूप में मान्यता दी.

1927- महान स्वतंत्रता सेनानियों राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां और रोशन सिंह को अंग्रेजों ने फांसी दी.

1931- जोसफ ए लियोंस आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री बने.

1932 – ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कोर (बीबीसी) ने विदेश में प्रसारण शुरू किया.

1934- प्रतिभा पाटिल का जन्म, जो बाद में चलकर भारत की 12वीं राष्ट्रपति बनीं.

1941 – एडोल्फ हिटलर ने जर्मन सेना की कमान पूर्ण रूप से संभाली.

1950 – चीन के हमले के कारण तिब्बती आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने तिब्बत छोड़ा.

1961- गोवा को पुर्तगाल की गुलामी से आजादी मिली.

1983 – ओरिजनल फीफा वर्ल्ड कप ट्रॉफी, द जुल्स रिमेट ट्रॉफी, रियो द जेनेरियो स्थित ब्राजील के फुटबॉल फेडरेशन के मुख्यालय से चोरी.

1984 – चीन के प्रधानमंत्री जाओ जियांग और ब्रिटेन की प्रधानमंत्री मार्ग्रेट थैचर ने 1997 में हांगकांग चीन को वापस सौंपने के लिए चीन-ब्रिटेन संयुक्त घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किया.

2007 – टाइम पत्रिका ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ के खिताब से नवाजा.

2012 – पार्क ग्युन हे दक्षिण कोरिया की पहली महिला राष्ट्रपति बनीं. 2018 – भारत के भू-स्थिर संचार उपग्रह जीसैट-7ए को लेकर जाने वाले जीएसएलवी-एफ11 का श्रीहरिकोटा के दूसरे लॉन्च पैड से प्रक्षेपण.

2018 – लोकसभा में ‘सरोगेसी (विनियमन) विधेयक को मंजूरी. इसमें देश में वाणिज्यिक उद्देश्यों से जुड़ी किराये की कोख (सरोगेसी) पर रोक लगाने, सरोगेसी पद्धति का दुरूपयोग रोकने के साथ नि- संतान दंपतियों को संतान का सुख दिलाना सुनिश्चित करने का प्रस्ताव किया गया .

2018 – जम्मू-कश्मीर में छह महीने का राज्यपाल शासन पूरा होने के बाद मध्यरात्रि से राष्ट्रपति शासन लागू.

2019 – स्वदेश में विकसित क्रूज रॉकेट पिनाक के अद्यतन संस्करण का ओडिशा के तट स्थित केंद्र से सफल परीक्षण.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *