Shadow

जानिए केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल 7 यूपी के चेहरों का राजनैतिक इतिहास..

जानिए केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल 7 यूपी के चेहरों का राजनैतिक इतिहास……

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव आने को थोड़े दिन ही बचे हैं…ऐसे में सभी पार्टियां हर प्रकार के समीकरण साधने की जुगत में जुट गई हैं…इसी कड़ी में केंद्रीय मंत्री मंडल के विस्तार में यूपी को तरजीह दी गई है… प्रदेश से सात मंत्रियों ने मंत्री मंडल में शपथ ली..आईये नजर डालते हैं..इनकी राजनैतिक पृष्ठभूमि पर…

पंकज चौधरी
चौधरी यूपी के महराजगंज से सांसद हैं। सांसद के रूप में उनका यह छठवां कार्यकाल है। महराजगंज यूपी की प्रतिष्ठित सीट गोरखपुर के पास है। पंकज चौधरी को वित्त में राज्यमंत्री बनाया गया है… पंकज चौधरी को केंद्र में संतोष गंगवार के इस्तीफा देने के बाद मौका मिला है क्योंकि गंगवार भी कुर्मी समाज के हैं। यूपी में यादव समाज के बाद अन्य पिछड़ा वर्ग में कुर्मी बिरादरी की मजबूत भागीदारी है। चौधरी गोरखपुर के डिप्‍टी मेयर भी रह चुके हैं।

कौशल किशोर
कौशल यूपी के मोहनलालगंज से सांसद हैं। सांसद के रूप में उनका यह दूसरा कार्यकाल है। उन्हें हाउसिंग अरबन डिपार्टमेंट में राज्यमंत्री बनाया गया है… कौशल किशोर लखनऊ के मोहनलालगंज क्षेत्र से भाजपा से दूसरी बार सांसद हैं और पार्टी ने उन्हें दूसरी बार राज्य में अनुसूचित मोर्चा का अध्यक्ष भी बनाया है। वामपंथी पृष्ठभूमि से शुरुआती राजनीति करने वाले किशोर की पासी समाज में अच्छी पकड़ है। राज्‍य में गैर जाटव दलितों में पासी समाज की अच्छी तादाद है।

एसपी बघेल
सत्यपाल सिंह बघेल आगरा से सांसद हैं। सांसद के रूप में उनका यह पांचवा कार्यकाल है। सांसद सत्यपाल सिंह बघेल इस बार अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित आगरा संसदीय क्षेत्र से भाजपा के सांसद चुने गये। इसके पहले वह 2017 में फिरोजाबाद की टूंडला सीट से विधानसभा के लिए चुने गये और योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली राज्य सरकार में मंत्री भी रहे। बघेल इससे पहले समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी में भी रह चुके हैं।

बीएल वर्मा
वर्मा उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं। सांसद के रूप में इनका यह पहला कार्यकाल है। उत्तर प्रदेश की पिछड़ी जातियों में लोधी समाज का भी प्रभाव काफी माना जाता है। भाजपा ने इस बार संगठन में प्रदेश उपाध्‍यक्ष रह चुके राज्‍यसभा सदस्‍य बीएल वर्मा को मौका दिया है क्योंकि बीएल वर्मा भी लोध समाज में अपनी मजबूत पकड़ के लिए जाने जाते हैं। भाजपा ने कल्‍याण सिंह के विकल्प के तौर पर बीएल वर्मा को हमेशा बढ़ावा दिया है।

अजय कुमार
अजय कुमार यूपी के खीरी से सांसद हैं। इस सीट से वह दूसरी बार चुने गए हैं। लखीमपुर खीरी क्षेत्र से भाजपा के दूसरी बार के सांसद अजय कुमार मिश्र टेनी के राज्य मंत्री बनाकर भाजपा ने ब्राह्मण समुदाय में संदेश दिया है। अजय पार्टी के कैडर बेस कार्यकर्ता माने जाते हैं। पार्टी ने अपने कैडर बेस कार्यकर्ता को महत्व देकर ब्राह्मणों के साथ-साथ कार्यकर्ताओं को भी महत्व दिया है।

भानू प्रताप सिंह वर्मा
भानू प्रताप सिंह वर्मा यूपी की जालौन सीट से सांसद हैं। सांसद के रूप में उनका यह पांचवा कार्यकाल है। उन्हें लघु मध्यम उद्योग राज्यमंत्री बनाया गया है… जालौन के भाजपा सांसद भानु प्रताप वर्मा अनुसूचित वर्ग के कोरी समाज से आते हैं। भानु प्रताप वर्मा कानपुर-बुंदेलखंड के प्रतिनिधित्व के तौर पर भी एक प्रमुख चेहरा हैं। विश्लेषक मानते हैं कि दलित चेहरों में पासी, कोरी और धनगर को मौका देकर भाजपा ने गैर जाटवों को महत्व देने का संदेश दिया है।

अनुप्रिया पटेल
पटेल यूपी की लोकप्रिय मिर्जापुर सीट से सांसद हैं। सांसद के रूप में उनका यह दूसरा कार्यकाल है। उन्हें वणिज्य एवं उद्योग में राज्यमंत्री बनाया गया है… मिर्जापुर से भाजपा की सहयोगी अपना दल (एस) से दूसरी बार की सांसद अनुप्रिया पटेल पिछड़े वर्ग के कुर्मी समाज से हैं। मिर्जापुर इलाके सहित पूर्वांचल में कुर्मी समाज की तादाद काफी ज्यादा है। अनुप्रिया पटेल अपने पिता सोनेलाल पटेल के बाद अपने समाज की एक बड़ी नेता के रूप में उभरी हैं

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *