Shadow

LOCKDOWN की आहट बना गरीबों का सिरदर्द!, इन राज्यों में हुई वैक्सीन की कमी

देश में कोरोना संक्रमण के मामले जितनी तेजी से बढ़ रहे हैं उससे तो लोगों को मन में एक ही डर सता रहा है कि कहीं फिर से लॉकडाउन न लग जाए। तो वहीं गरीब सोचने लगा है कि कहीं फिर से न उसकी रोजी रोटी बंद हो जाए। क्योंकि अब से ठीक एक साल पहले जब लॉकडाउन लगा था तो न जाने कितने लोगों के रोजगार छिने थे और कितनों की भूख से मौत हो गई थी। अब जब एक साल बाद लोगों का इतनी बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन हो चुका है तो वहीं फिर से कोरोना के वैसे ही आंकड़े आना हैरत में डालते हैं। देश में अब तक लगभग 8 करोड़ 31 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन लग चुकी है। तो वहीं कुछ ऐसे भी राज्य हैं जहां कोरोना वैक्सीन की शॉर्टिज देखने को मिल रही है। जिनमें हरियाणा, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली, छत्‍तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और तेलांगना शामिल हैं। इत्तेफाख की बात ये है कि इन सभी राज्यों बीजेपी की सरकार नहीं है। तो ऐसे में एक सवाल ये भी उठता है कि क्या बीजेपी शासित राज्यों में ही कोरोना की दवाई दी जाएगी। वहीं दूसरी ओर जिन राज्यों में संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है वहां नाइट कर्फ्यू और कुछ आवश्यक प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। अब ऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या नाइट कर्फ्यू को लॉकडाउन का ट्रायल माना जाए। अगर हां तो इतनी तादाद में वैक्सीनेशन का क्या लाभ मिला। ये आप भी मंथन कीजिए

भारत में अब तक कई करोड़ लोगों को कोरोना वैक्‍सीन का टीका चुका है। बीते 5 अप्रैल को ही भारत में 43 लाख से ज्‍यादा लोगों को कोरोना का पहला टीका लगा और 4 लाख से ज्‍यादा लोगों को कोरोना वैक्‍सीन की दूसरी डोज लगी। जबसे कोरोना वैक्‍सीनेशन अभियान शुरू हुआ है तब से अभी तक 8.31 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्‍सीन लग चुकी है। लेकिन भारत के कुछ राज्‍य ऐसे भी हैं जहां कोरोना वैक्‍सीन की शॉर्टेज देखने को मिल रही है। हरियाणा, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली, छत्‍तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और तेलांगना ऐसे 6 राज्‍य हैं जहां वैक्‍सीन का स्‍टॉक लगभग खत्‍म होने को हैं। इन राज्‍यों ने केंद्र सरकार को वैक्‍सीन की कमी के बारे में बताकर जल्‍द से जल्‍द कोरोना वैक्‍सीन भेजने की अपील की है। बता दें कि बीते बुधवार को कोरोना संक्रमण के प्रतिदिन आने वाले केस का रिकॉर्ड टूटा, इस दिन कोविड-19 के 1,15,736 मामले दर्ज हुए। जब से कोरोना महामारी शुरू हुई है तब से पूरी दुनिया में किसी भी देश से एक दिन में इतने लोग संक्रमित नहीं हुए हैं।

सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (serum institute of india) के CEO अदार पूनावाला ने हाल ही में कहा कि ज्‍यादा से ज्‍यादा मात्रा में कोविशील्‍ड वैक्‍सीन बनाने के लिए उनकी कंपनी को जून से पहले 3 हजार करोड़ रुपये की आवश्‍यकता होगी।

आप नेता ने प्रदेश में वैक्सीन की कमी और भ्रष्टाचार को लेकर बोला सरकार पर हमला

LOCKDOWN की आहट बना गरीबों का सिरदर्द!, इन राज्यों में हुई वैक्सीन की कमी

पीएम मोदी करेंगे राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक, इन बातों पर हो सकती है विशेष चर्चा

बिजनौर: पटाखा फैक्ट्री में हुआ विस्फोट/ पांच की मौत, कई घायल

लखनऊ: KGMU में फूटा कोरोना बम, एक ही विभाग के 26 लोग हुए संक्रमित

MNS नेता और RTI कार्यकर्ता की हत्या का हुआ खुलासा, 1 आरोपी गिरफ्तार

लखनऊ: चालान काटते हुए दारोगा ने दी जमकर गालियां, वीडियो हुआ वायरल

पंजाब से बांदा जेल पहुंचे विधायक मुख़्तार अंसारी, आखिर क्यों मुख़्तार पर योगी सरकार कर रही है इतनी सख़्ती?

बांदा जेल बनी मुख्तार अंसारी का नया ठिकाना, इतने सुरक्षाकर्मियों की कड़ी निगरानी में रहेगा डॉन

LOCKDOWN की आहट बना गरीबों का सिरदर्द!, इन राज्यों में हुई वैक्सीन की कमी

आप नेता ने प्रदेश में वैक्सीन की कमी और भ्रष्टाचार को लेकर बोला सरकार पर हमला

LOCKDOWN की आहट बना गरीबों का सिरदर्द!, इन राज्यों में हुई वैक्सीन की कमी

पीएम मोदी करेंगे राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक, इन बातों पर हो सकती है विशेष चर्चा

बिजनौर: पटाखा फैक्ट्री में हुआ विस्फोट/ पांच की मौत, कई घायल

लखनऊ: KGMU में फूटा कोरोना बम, एक ही विभाग के 26 लोग हुए संक्रमित

MNS नेता और RTI कार्यकर्ता की हत्या का हुआ खुलासा, 1 आरोपी गिरफ्तार

लखनऊ: चालान काटते हुए दारोगा ने दी जमकर गालियां, वीडियो हुआ वायरल

पंजाब से बांदा जेल पहुंचे विधायक मुख़्तार अंसारी, आखिर क्यों मुख़्तार पर योगी सरकार कर रही है इतनी सख़्ती?

बांदा जेल बनी मुख्तार अंसारी का नया ठिकाना, इतने सुरक्षाकर्मियों की कड़ी निगरानी में रहेगा डॉन

LOCKDOWN की आहट बना गरीबों का सिरदर्द!, इन राज्यों में हुई वैक्सीन की कमी

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *