Shadow

लखनऊ: चाइल्ड लाइन द्वारा बच्चों को बाल भिक्षावृत्ति से कराया गया मुक्त

चाइल्ड लाइन द्वारा बच्चों को भिक्षावृत्ति से मुक्त कराया गया

 

लखनऊ। बुधवार को राज्य बाल संरक्षण आयोग उत्तर प्रदेश की सदस्या डॉ. प्रीति वर्मा के नेतृत्व में बाल कल्याण समिति और चाइल्ड लाइन लखनऊ टीम द्वारा बच्चों को बाल भिक्षावृत्ति से मुक्त कराया गया। यह कार्य आई .टी. चौराहा थाना महानगर और सचिवालय चौराहा लालबाग रोड, थाना हजरतगंज में किया गया। इस अभियान में कुल 9 बालक 9 बालिका रेस्क्यू किये गये। राज्य बाल संरक्षण आयोग उत्तर प्रदेश की सदस्य डॉ. प्रीती वर्मा बाल कल्याण समिति सदस्य डॉ. संगीता शर्मा, चाइल्ड लाइन टीम से विजय पाठक, नवीन कुमार, अनीता त्रिपाठी,काजल पांडेय, संजना सिंह और पुलिस द्वारा रेस्क्यू किया गया।चाइल्ड लाइन टीम द्वारा भिक्षावृत्ति से मुक्त कराये गये बच्चों को बाल कल्याण समिति लखनऊ के समक्ष प्रस्तुत किया गया। इस दौरान आयोग की सदस्या प्रीती वर्मा द्वारा महिला थाने पर बालकों के परिजनों के विरुद्ध कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया गया। बाल कल्याण समिति लखनऊ द्वारा आदेशित किया गया कि 2 साल से कम आयु वाले बच्चे माँ के साथ में जांएगे। 10 साल से कम आयु वाले बच्चे राजकीय बालगृह शिशु हज़रतगंज और 10 वर्ष से अधिक आयु वाले बालक राजकीय बालगृह बालक मोहान रोड लखनऊ और 10 साल से अधिक आयु वाली बालिकाओं को राजकीय बालिका गृह मोतीनगर लखनऊ में भेजा जाएगा। बच्चों का कोविड टेस्ट कराने के बाद अस्थाई रूप से आश्रय के लिए निर्देशित किया गया है।

प्रसपा कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर किया प्रदर्शन, बढ़ती महंगाई का किया विरोध

कौन हैं तीरथ सिंह रावत?, जिन्हें बीजेपी ने बनाया उत्तराखंड का नया मुख्यमंत्री

सियासी उठापटक के बीच उत्तराखंड को मिला नया मुख्यमंत्री, आज ले सकते हैं शपथ!

पूर्व सपा MLA पर लगा मारपीट का आरोप, सफाई देते हुए नेता ने कही ये बात..

कौन हैं तीरथ सिंह रावत?, जिन्हें बीजेपी ने बनाया उत्तराखंड का नया मुख्यमंत्री

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *