Shadow

लखनऊ में हुई अजीत सिंह की हत्या से भयभीत आजमगढ़ की विधायक

विधायक और उनका परिवार की सुरक्षा को लेकर गुहार।

आज़मगढ़। लखनऊ के गोमती नगर में मोहम्मदाबाद गोहना मऊ के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या के बाद आजमगढ़ सगड़ी से विधायक वंदना सिंह का परिवार भयभीत हो गया है। वंदना सिंह के पति सर्वेश सिंह सीपू जो कि सगड़ी से पूर्व विधायक थे, उनकी हत्या 19 जुलाई 2013 में जीयनपुर बाजार में उनके आवास के पास कर दी गई थी। इसके बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए तोड़फोड़ और आगजनी शुरू कर दी थी। मामला पूर्व विधायक की हत्या से जुड़ा हुआ था इसलिए इस मामले को कुछ दिनों बाद जांच के लिए सीबीआई को स्थानांतरित कर दिया गया था, इस मामले में पूर्वांचल के माफिया और इसी जिले के रहने वाले कुण्टू सिंह का नाम सामने आया था जो इस समय जेल में बंद है और सीपू सिंह हत्याकांड में कुंटू सिंह सहित उसके कई साथियों पर हत्या का मुकदमा चल रहा है और उच्च न्यायालय के निर्देशानुसार मुकदमे का निर्णय समय बद्ध तरीके किया जाना है।

पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू की हत्या में अजीत सिंह थे गवाह

इस हत्याकांड में अजीत सिंह भी पूर्व विधायक सिपू सिंह की ओर से गवाह थे सीपू सिंह के भाई संतोष सिंह टीपू की गवाही पूरी हो गई अब अजीत सिंह को न्यायालय में इस हत्याकांड की गवाही करनी थी संतोष सिंह ने बताया कि अजीत सिंह को कुछ दिन पहले से इस बात की धमकी मिल रही थी कि वह माफिया कुंटू सिंह के विरुद्ध गवाही ना करें। लेकिन वह इस बात से भयभीत नहीं हुए और वह गवाही करने वाले थे अजीत सिंह की हत्या इसी का परिणाम है। जिसको लेकर  आज पुलिस अधीक्षक से मिलकर संतोष सिंह ने परिवार और स्वयं की सुरक्षा की मांग की है। संतोष सिंह टीपू ने बताया कि पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने उनको सुरक्षा का पूरा भरोसा दिलाया है, लेकिन वह जेल अधिकारियों से खास नाराजगी कि उनका कहना है कि कुंटू सिंह आजमगढ़ की जेल में ही बंद है और वहां से खुलेआम मोबाइल के जरिए लोगों को धमकियां दे रहा है और उसने कल लखनऊ में हुई हत्या को अंजाम दिलवाया, जिससे कि वह मेरे भाई पूर्व विधायक सर्वेश सिंह की हत्या के मामले में अजीत सिंह की गवाही ना हो सके।

Bite :- 1. संतोष सिंह

V.O. 2 :- वह इस मामले में पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने संतोष सिंह को सुरक्षा का आश्वासन दिया। वही आरोपी कुंटू सिंह को लेकर लगातार कार्रवाई की जा रही है, उस मुकदमे में सुनवाई भी की जा रही है। मर्डर को लेकर आजमगढ़ की पुलिस भी पूरे मामले में पैनी नजर रख रही है। बताया कि हाल ही में संपत्ति जब्ती और 3 गंगस्टर की कार्रवाई भी की गई।

Bite :- 2. सुधीर कुमार सिंह ( पुलिस अधीक्षक ) आजमगढ़

V.O. 3 :- यहां यह बात भी महत्वपूर्ण है कि अजीत सिंह और कुंटू सिंह पहले एक ही साथ काम किया करते थे और इलाके में इनका बहुत वर्चस्व था किसी बात को लेकर दोनों में अदावत हो गई और अजीत सिंह ने अपना एक अलग गिरोह खड़ा कर लिया।

लखनऊ में गैंगवार/ 35 राउंड फायरिंग से थर्रा उठी राजधानी, 1 की मौत

महिला सशक्तिकरण के लिए नुक्कड़ नाटक के माध्यम से किया गया जागरूक

https://www.youtube.com/watch?v=Sn3OS6oWQHM

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *