Shadow

नाका अग्निकांड के बाद अवैध रूप से बने होटल विराट का मालिक खुद करवा रहा है ध्वस्तिकरण

नाका अग्निकांड में विराट होटल में गई थी 7 लोगों की जान

लखनऊ। राजधानी में लगभग ढाई साल पहले चारबाग के नाका हिंडोला के दो होटलों में हुए अग्निकांड के बाद हुई एलडीए की कार्रवाई से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संतुष्ट नहीं दिखाई दिये। सीएम योगी ने मामले की पूरी फाइल तलब करते हुए साल 2012 से 2018 के बीच तैनात रहे विहित प्राधिकारी, अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता और अपर अभियंता का ब्योरा मांगते हुए कार्रवाई के आदेश दिये। मुख्यमंत्री की तरफ से मामले को संज्ञान में लेते ही एलडीए प्रशासन सक्रिय हो गया। एलडीए ने लापरवाह और मामले में दोषी इंजीनियर और अधिकारियों की सूची तैयार करने के साथ-साथ अवैध रूप से बनी नाका हिंडोला की इमारत को ध्वस्त करने की तारीख भी तय कर दी है। तय तारीख के अनुसार विराट होटल 12 जनवरी को ध्वस्त किया जाएगा। आपको बता दें कि जांच में अवैध रूप से खड़े होटल की इमारत में एलडीए, बिजली विभाग, अग्निश्मन विभाग, विद्युत सुरक्षा निदेशालय और स्थानीय पुलिस की मिलीभगत पाई गई थी। देखने वाली बात यह है कि जहां एक तरफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा विराट होटल पर कार्रवाई के आदेश के बाद भी विराट होटल पर लखनऊ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जा रही है तो वहीं होटल विराट के मालिक ने खुद अपने लेबर लगाकर होटल का ध्वस्तीकरण करने की शुरुआत कर दी है।

https://www.youtube.com/watch?v=Txps56dXd_Y

अवैध निर्माण रोकने में एलडीए उपाध्यक्ष अभिषेक प्रकाश भी हुए फेल

कृषि कानून और किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट का सख़्त रुख, कही ये बात..

बताया जा रहा है कि लखनऊ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जा रही है तो वहीं होटल विराट के मालिक ने खुद अपने लेबर लगाकर होटल का ध्वस्तीकरण करने की शुरुआत कर दी है। अब देखने वाली बात होगी कि एलडीए क्या करता है।

https://www.youtube.com/watch?v=-kI_CpNF4W0

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *