Shadow

पुलिस ने कोरोना टेस्ट की फर्ज़ी रिपोर्ट बनाने वाले दो जालसाजों को किया गिरफ्तार

फर्जी कोरोना रिपोर्ट देने वाले दो जालसाज गिरफ्तार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना टेस्ट की फर्जी रिपोर्ट बनाने वाले दो जालसाजों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. मरीजों से पैसे लेकर ये दोनों फर्जी रिपोर्ट बनाते थे. पुलिस ने आरोपियों के पास से लैपटॉप और फोन बरामद किया है. दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक लखनऊ के थाना विभूतिखंड क्षेत्र में डॉक्टर शिवेंद्र विक्रम सिंह और ज्योति सिंह का डायग्नोस्टिक सेंटर चलता है. इन दोनों ने पुलिस को खुद इसकी सूचना दी थी कि उनके डायग्नोस्टिक सेंटर पर कार्यरत दो कर्मचारी लोगों की फर्जी कोरोना रिपोर्ट बना रहे हैं.

पुलिस ने सूचना पर कार्यवाही करते हुए सेंटर के कर्मचारी शिवम कुशवाहा और शुभम गौतम पर जांच रिपोर्ट में फर्जीवाड़ा करने की बात का खुलासा किया और मौके पर पहुंच कर पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने वो लैपटॉप और मोबाइल बरामद किया गया जिससे वे यह फर्जी रिपोर्ट तैयार करते थे। डीसीपी पूर्वी जोन संजीव सुमन के मुताबिक लखनऊ विभूतिखंड में सूचना मिली जिमसें डाइग्नोस्टिक के मालिक डॉक्टर ने बताया कि उनके कर्मचारियों द्वारा बिना उनकी जानकारी के सैम्पल लेकर कोरोना की फर्जी जांच रिपोर्ट दी जा रही है जिसके बाद पुलिस ने जांच की. जांच में यह बात सच साबित हुई और आरोपियों ने खुद ही कबूल किया. आरोपियों के मुताबिक वो फर्जी जांच रिपोर्ट तैयार करने के 900 रुपये लेते थे. पुलिस मामले की जांच कर रही है और पता लगा रही है कि आरोपियों ने अबतक कितने लोगों की फर्जी जांच रिपोर्ट तैयार की है.

बंगाल मे बीजेपी हार रही है और ममता बनर्जी सबसे ज्यादा लोकप्रिय है- अखिलेश यादव

कोरोना की दूसरी लहर का कहर, जानिये किन राज्यों में कब तक बंद किये गये स्कूल

24 घंटे में कोरोना के मामलों ने तोड़े सभी रिकॉर्ड, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किये ये आंकड़े..

आबकारी विभाग तस्करी पर लगाम लगाने में हुआ नाकाम, पुलिस ने पाई ये बड़ी सफलता…

आज़मगढ़: पंचायत चुनाव को लेकर प्रत्याशियों ने कसी कमर, तेज़ हुआ प्रचार

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *