Shadow

प्रधानमंत्री मोदी ने MP में 1.75 लाख घरों का कराया ‘गृह प्रवेश’

फाइल फोटो

प्रधानमंत्री मोदी ने MP में 1.75 लाख घरों का कराया ‘गृह प्रवेश’

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण को गरीबों को आत्मविश्वास प्रदान करने वाली योजना करार दिया. मोदी ने मध्य प्रदेश में इस योजना के तहत बने एक लाख 75 हजार आवासों का उद्घाटन करने के बाद कहा कि यह सिर्फ मकान बनाने की योजना नहीं है बल्कि इसका मकसद गरीब को मजबूत बनाना है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, योजना का मकसद है गरीब लोग घर, बिजली, पानी, ईंधन जैसी रोजमर्रा की जद्दोजहद से बाहर निकलकर अपने भविष्य की प्रगति पर ध्यान लगाएं. मोदी ने कहा कि गरीब मेहनत करने के बाद जब रात में थका हुआ घर पहुंचे तो चैन की नींद सोए और अगले दिन फिर तरोताजा होकर काम परनिकल पड़े. गरीबी को पराजित करना है, गरीबी से बाहर निकलना है तो गरीबी से मुक्ति पाने का सबसे बड़ा रास्ता है गरीब को ताकतवर बनाने का. गरीब को अपनी लड़ाई लड़ने की ताकत मिल रही है, उसका परिणाम भी नजर आने लगा है.

लेक्चरर से लेकर शिक्षा मंत्री रहे आर्य समाज के सन्यासी नेता स्वामी अग्निवेश..

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 2022 तक देश के हर परिवार को घर देने के लक्ष्य की दिशा में यह एक और महत्वपूर्ण कदम है. प्रधानमंत्री आवास योजना – ग्रामीण के तहत तैयार किए गए ये घर इस बात का सबूत हैं कि कोरोना महामारी भी विकास कार्यों में बाधक नहीं बन सकी है.

मोदी ने कहा कि आज मध्य प्रदेश के लाभार्थियों को अपना पक्का घर मिला है, अपने सपनों का घर मिला है. एक नया विश्वास आपके मन में पैदा हुआ है. मध्य प्रदेश के 1.75 लाख ऐसे परिवार जो अपने घर में आज प्रवेश कर रहे हैं, उन सभी को मैं बधाई और शुभकामनाएं देता हूं.

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि मुझे कई बार लोग पूछते हैं कि घर तो पहले भी गरीबों के लिए बनते थे. वैसे दशकों से गरीबों के लिए घर बनाने की योजनाएं चल रही हैं. लेकिन करोड़ों गरीबों को घर देने का लक्ष्य था, वो कभी पूरा नहीं हो पाया. पीएम ने कहा कि पहले गरीब सरकार के पीछे दौड़ता था, अब सरकार लोगों के पास जा रही है. अब किसी की इच्छा के अनुसार लिस्ट में नाम जोड़ा या घटाया नहीं जा सकता. चयन से लेकर निर्माण तक वैज्ञानिक और पारदर्शी तरीका अपनाया जा रहा है.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *