Shadow

सीएम के मुंह से ” पटकना, ठोकना” सुनाई पड़ता है लेकिन इंफ्रास्ट्रक्चर या सोलर एनर्जी नहीं – अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यालय में आज प्रेस वार्ता कर बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार का सबसे बड़ा अचीवमेंट है कि इनकी दुबारा सरकार नहीं आएगी, डीज़ल-पेट्रोल का मुआवजा कहां जा रहा है सरकार इसका जवाब दें।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं सीएम से जानना चाहता हूं कि उनके मुंह से ” पटकना, ठोकना” सुनाई पड़ता है लेकिन इंफ्रास्ट्रक्चर या सोलर एनर्जी क्यों नही सुनाई पड़ती। उन्होंने कहा कि आज जब मैं सीएम का भाषण सुन रहा था, वो ऐसे जवाब दे रहे थे की जैसे पिछले 4 साल में सरकार ने दायरे और मर्यादा में रहकर काम किया हो। इंस्टीट्यूशन का जितना नुकसान बीजेपी ने किया उतना किसी ने नहीं किया। बीजेपी यूपी दिल्ली सरकार की नकल करती है, ऐसे ही कृषि बिल को लोक सभा में पारित होने के बाद यूपी में किया। अखिलेश ने कहा कि कल सभी एमएलसी सदन में धरने पर थे, लेकिन तब भी सारे बिल पास कर दिए गए, जबकि यहां के सदन में बहुमत विपक्ष का है। उत्तर प्रदेश की जनता का ये सरकार अपमान कर रही है। इन्होंने सारे बिल बिना बात सुने पास करा दिए और ये परम्परा की बात कर रहे हैं।                             उन्होंने कहा कि न केंद्र सरकार ने 5 ट्रिलियन की बात की और न ही उप्र की सरकार ने 1 ट्रिलियन की बात की। अखिलेश यही नहीं रुके उन्होंने कहा कि ये लोग सतत विकास की बात करते हैं पर ये क्या कर रहे हैं अर्थव्यवस्था के लिए, इंफ्रा के लिए क्या किया, विकास के लिए क्या किया। उन्होंने बीजेपी पर संकल्प पत्र को भूलने का आरोप लगाया। ये पहली सरकार है जो शिलान्यास का शिलान्यास करती है, उद्घाटन का उद्घाटन करती है।साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री ने सीएम के टोपी वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि सीएम लाल टोपी से क्यों डरते हैं ? सीएम की खुद तस्वीर हैं लाल टोपी लगाए हुये। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि कितने मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने अपने ऊपर लगे मुकदमे वापिस लिए? इसका जवाब दें मुख्यमंत्री।

https://www.youtube.com/watch?v=DQtKxH_awCw

अमेठी में तीन तलाक़ का मामला आया सामने, शिक़ायत करने पर नहीं हुई सुनवाई

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *