Shadow

Tag: who

Corona vaccine : फाइजर की वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को WHO की मंजूरी

Corona vaccine : फाइजर की वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को WHO की मंजूरी

ट्रेंडिंग, राष्ट्रीय
Corona vaccine : फाइजर की वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को WHO की मंजूरी वैश्विक महामारी Corona Virus के बढ़ते मामलों के बीच WHO ने Pfizer and Bioentech की covid vaccine के इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दे दी है। स्वास्थ्य संगठन की ओर से पहली बार किसी वैक्सीन को मान्यता दी गई है। इसी के साथ अब दुनियाभर के देशों में फाइजर की covid vaccine के इस्तेमाल का रास्ता खुल गया है। वहीं भारत भी आज covid vaccine के इमरजेंसी यूज को लेकर बड़ा फैसला लेगा। WHO ने अपने बयान में कहा कि फाइजर-बायोटेक covid vaccine पहली ऐसी वैक्सीन है, जिसे Corona Virus के आने के बाद संगठन की ओर से इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दी गई है। WHO की असिस्टेंट डायरेक्टर मैरिएंगेला सिमाओ ने कहा कि covid vaccine की वैश्विक पहुंच सुनिश्चित करने की दिशा में ये एक बेहद ही सकारात्मक कदम है। भारत फाइजर की covid vaccine पर आज लेगा फैसला के...
Pfizer की Corona Vaccine को WHO ने दी मंजूरी, भारत में इस्तेमाल को लेकर बैठक

Pfizer की Corona Vaccine को WHO ने दी मंजूरी, भारत में इस्तेमाल को लेकर बैठक

अंतर्राष्ट्रीय, ट्रेंडिंग, बाज़ार, राष्ट्रीय, लाइफ स्टाइल
Pfizer की Corona Vaccine को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दी मंजूरी जिनेवा: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने Pfizer and Bioentech की Corona virus Vaccine के आकस्मिक इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. साथ ही दुनियाभर में Pfizer की वैक्सीन के इस्तेमाल का रास्ता भी खुल गया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंजूरी देते हुए कहा कि वह अपने क्षेत्रीय कार्यालयों के जरिए संबंधित देशों से इस वैक्सीन के लाभ के बारे में बात करेगा, जिससे वहां भी इसे उपलब्ध कराया जा सके। वहीं भारत भी आज कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को लेकर बड़ा निर्णय लेने जा रहा है। जिसको लेकर आज एक महत्वपूर्ण बैठक होगी। सभी परीक्षण के बाद लिया गया फैसला विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक बयान जारी करके कहा है कि उसने पूरी जांच और टेस्ट के बाद ही फाइजर की वैक्सीन को मंजूरी दी है, इसके साथ ही ‘इमरजेंसी यूज लिस्टिंग’ प्रक्रिया पर भी तेजी से काम चल रहा है, ता...
WHO ने दी हिदायत- कोरोना महामारी को न बनने दें सियासी फुटबाल

WHO ने दी हिदायत- कोरोना महामारी को न बनने दें सियासी फुटबाल

अंतर्राष्ट्रीय
WHO के आपात मामलों के शीर्ष विशेषज्ञ माइक रियान ने गुरुवार को कहा कि कोरोना महामारी को सियासी फुटबाल नहीं बनने दिया जाए। सभी देशों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे अपने नागरिकों को कोरोना के प्रति लगातार सचेत करते रहें। इस बीच WHO के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेबरेसस ने बताया कि दुनिया के 170 ज्यादा देश इस वैश्विक संगठन की कोवैक्स ग्लोबल वैक्सीन योजना से जुड़ गए हैं। इस योजना के तहत 2021 के अंत तक वैक्सीन की दो अरब खुराक तैयार करने का लक्ष्य है। इस बीच डब्ल्यूएचओ की आई एक रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना से मुकाबले में हर सातवां स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित पाया जा रहा है। कुछ देशों में यह आंकड़ा हर तीन में एक है। दुनिया में कोरोना महामारी का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इस खतरनाक वायरस की चपेट में आकर संक्रमित होने वाले लोगों का वैश्विक आंकड़ा तीन करोड़ के पार पहुंच गया है। इस समय दुनिया में भारत महामार...
WHO प्रमुख ने दी चेतावनी, कहा- कोरोना संक्रमण नहीं आखिरी महामारी

WHO प्रमुख ने दी चेतावनी, कहा- कोरोना संक्रमण नहीं आखिरी महामारी

अंतर्राष्ट्रीय
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने दुनिया भर को चेताया है कि वह दूसरी महामारी के लिए तैयार रहे. कोरोना वायरस के संक्रमण और उसके प्रभाव को देखते हुए यह बात WHO के प्रमुख डॉ. टेड्रोस अधनोम घ्रेबेसिस ने सोमवार देर शाम को कही. टेड्रोस ने यह भी कहा कि दुनियाभर के देशों को अगली महामारी से पहले पब्लिक हेल्थ में काफी पैसा निवेश करना चाहिए नहीं तो कोरोना जैसे हालत की आशंका है| एक वचुर्अल संवाददाता सम्मेलन में कहा, “यह आखिरी महामारी नहीं होगी। इतिहास ने हमें सिखाया है कि महामारी जीवन का एक हिस्सा है। लेकिन अगली बार महामारी आने पर हम सबको इसके लिए तैयार रहना होगा।” उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकियों में काफी प्रगति के बावजूद कई देशों ने अभी तक अपने सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणालियों पर सही दिशा में ध्यान नहीं दिया है। गौरतलब है कि डब्ल्यूएचओ ने 11 मार्च को कोरोना वायरस संक्रमण को वैश्विक म विश्व स्वास्...
WHO ने कोरोना वैक्सीन को लेकर फिर किया चौकाने वाला खुलासा

WHO ने कोरोना वैक्सीन को लेकर फिर किया चौकाने वाला खुलासा

अंतर्राष्ट्रीय
WHO ने सोमवार को कहा कि कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) की आपात मंजूरी देने में बेहद सावधानी और गंभीरता की जरूरत है। डब्लूएचओ ने यह बयान ऐसे समय दिया है जब अमेरिका ने घोषणा की है कि वह इसमें तेजी लाने पर विचार कर रहा है। WHO की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि प्रत्येक देश को ट्रायल पूरे किए बिना दवाओं को मंजूरी प्रदान करने का अधिकार है, लेकिन यह ऐसा नहीं है जिसे आप हलके फुलके तरीके से कर लेते हैं। अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के प्रमुख ने कहा है कि अगर कोरोना वैक्सीन के खतरों से ज्यादा उसके फायदों को लेकर अधिकारी आश्वस्त हैं तो वह सामान्य मंजूरी प्रक्रिया को बाईपास कर इसे मंजूरी प्रदान करने को तैयार हैं। WHO के महानिदेशक टेड्रोस अधनोम घेब्रेयेसस ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान सामाजिक गतिविधियों को इतनी जल्दी बहाल करना ...
Corona Vaccine: रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग

Corona Vaccine: रूस की वैक्सीन के बाद भारत करेगा ये प्रयोग

अंतर्राष्ट्रीय
कोरोना वायरस मरीजों के लिए बनाई गई रूस की वैक्सीन की दुनियाभर में भारी मांग हो रही है। रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराश्को ने दावा किया है कि 20 देशों ने वैक्सीन 'स्पूतनिक-वी' के लिए प्री-ऑर्डर कर दिया है। उन्होंने बताया कि दुनिया के 20 देशों ने वैक्सीन की करोड़ों डोज खरीदने में रुचि दिखाई है। रूसी डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) वैक्सीन को बड़ी मात्रा में बनाने और विदेशों में प्रमोट करने में निवेश कर रहा है। रूसी वैक्सीन से संबंधित वेबसाइट ने दावा करते हुए उन देशों के नामों को बताया है, जिन्होंने स्पूतनिक वी को खरीदने में इच्छा जताई है। इसमें भारत, सऊदी अरब, इंडोनेशिया, फिलीपींस, ब्राजील, मैक्सिको आदि देश शामिल हैं। वेबसाइट का कहना है कि साल 2020 के अंत तक, 20 करोड़ कोरोना वैक्सीन के उत्पादन की योजना है। इसमें से 3 करोड़ डोज रूस खुद के लिए रखेगा। रूस के वैक्सीन बनाने के दाव...
कोरोना : WHO ने दुनिया के सामने की मुंबई के धारावी मॉडल की तारीफ

कोरोना : WHO ने दुनिया के सामने की मुंबई के धारावी मॉडल की तारीफ

अंतर्राष्ट्रीय
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मुंबई के सबसे बड़े स्लम एरिया धारावी में कोरोनो वायरस ब्रेक के लिए तारीफ की है। WHO की तरफ से कहा गया है कि धारावी में कोरोना वायरस को रोकने के लिए किए गए प्रयासों की बदौलत आज ये इलाका कोरोना से फ्री होने की कगार पर है। उन्होंने कहा कि इस राष्ट्रीय एकता और वैश्विक एकजुटता के साथ मिलकर ही इस महामारी को रोका जा सकता है। डब्ल्यूएचओ चीफ का कहना है कि कम्युनिटी एंगेजमेंट, टेस्टिंग, ट्रेसिंग, आइसोलेटिंग और सभी बीमारों के इलाज पर फोकस कर कोरोना की चेन को तोड़ना और संक्रमण को खत्म करना संभव है। हर देश की कुछ लिमिट हैं। जहां पाबंदियां हट रही हैं, वहां संक्रमण के केस बढ़ रहे हैं। ऐसे में सभी लोग एकजुटता और तेजी दिखाएं तो फायदा हो सकता है। दूसरी तरफ डब्ल्यूएचओ के इमरजेंसी प्रोग्राम के हेड डॉ. माइक रेयान का कहना है कि मौजूदा हालात में कोरोनावायरस को पूरी तरह खत्म क...
कोरोना संकट के बीच WHO-अमेरिका में और बढ़ी कड़वाहट

कोरोना संकट के बीच WHO-अमेरिका में और बढ़ी कड़वाहट

अंतर्राष्ट्रीय
दुनिया में फैले कोरोना वायरस संक्रमण के बीच अमेरिका ने WHO से रिश्ते तोड़ने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. WHO संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य से जुड़ी सबसे बड़ी संस्था है. हाल ही में कोरोना वायरस संक्रमण की जड़ को लेकर अमेरिका और WHO के बीच तीखा विवाद रहा है. अमेरिका कोरोना वायरस संक्रमण के लिए चीन को जिम्मेदार मानता है, जबकि WHO का कहना है कि इस मामले में चीन ने जिम्मेदारीपूर्वक अपना रोल निभाया है. एक साल पहले देनी पड़ती है नोटिस WHO से अलग होने के लिए अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव को दस्तावेज सौंप दिए हैं. WHO से अलग होने के लिए नियमों के मुताबिक 1 साल पहले सूचना देनी जरूरी है. इस तरह से अमेरिका 6 जुलाई 2021 से पहले WHO से अलग नहीं हो सकता है. इसका ये भी मतलब है कि इस एक साल के दरम्यान इस फैसले को बदला भी जा सकता है. बता दें कि मई महीने में जब अमेरिका में कोरोना वायरस का प्रकोप...
WHO की चेतावनी, कोरोना का खतरनाक चरण आने की उम्मीद

WHO की चेतावनी, कोरोना का खतरनाक चरण आने की उम्मीद

अंतर्राष्ट्रीय
WHO ने शुक्रवार को दुनिया को कोरोना वायरस महामारी के एक नए और खतरनाक चरण की चेतावनी दी है। जिसमें लॉकडाउन के लागू होने के बावजूद बीमारी तेजी से फैल रही है। यह चेतावनी ऐसे समय पर आई है जब पता चला है कि वायरस पिछले साल दिसबंर में इटली में मौजूद था। इसके कई महीनों बाद इसका पहला पुष्ट मामला सामने आया था। ठीक इसी समय चीन में वायरस का पहला मामला दर्ज किया गया था। WHO का कहना है कि लॉकडाउन खोलने के बाद अगर अचानक बड़ी संख्या में नए केस आते हैं तो हमें हैरान नहीं होना चाहिए| गुरुवार को दुनिया में कोरोना के 1.5 लाख नए मामले सामने आए| यह अब तक की एक दिन में हुई सबसे बड़ी बढ़ोतरी है| इनमें से करीब आधे केस USA, ब्राजील और लैटिन अमेरिका के हैं| वहीं आईएसएस संस्थान ने कहा कि इटली के शोधकर्ताओं ने सार्स-कोव-2 की खोज पिछले साल के अंत में मिलान और तूरीन में एकत्र अपशिष्ट जल के नमूनों में और जनवरी में ...
कोरोना मरीजों की ‘उम्मीद’ बताई जा रही है ये दवा, WHO ने भी जताई ख़ुशी

कोरोना मरीजों की ‘उम्मीद’ बताई जा रही है ये दवा, WHO ने भी जताई ख़ुशी

अंतर्राष्ट्रीय, लाइफ स्टाइल
कोरोना वायरस का जबसे कहर शुरू हुआ है तबसे पुरे दुनिया इसकी दवा खोजने में जुटी है वही कई दवाओं पर शोध हुआ जो शुरआती दौर में सफल रही लेकिन बाद में उनका रिजल्ट भी मिलना बंद हो गया| वही अब इंग्लैंड में शोधकर्ताओं का कहना है कि पहला ऐसा प्रमाण मिला है कि एक दवा कोरोना वायरस (Coronavirus) के मरीजों को बचाने में कारगर हो सकती है. डेक्सामेथासोन (Dexamethasone) नामक स्टेरॉयड के इस्तेमाल से गंभीर रूप से बीमार मरीजों की मृत्यु दर एक तिहाई तक घट गयी है इंग्लैंड में हुए इस शोध और इसके उत्साहजनक परिणाम पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी खुशी जताई है. एक बयान में WHO ने कहा- 'हम डेक्सामेथासोन पर हुए शोध का स्वागत करते हैं जो कोरोना में मृत्यु दर को कम कर सकता है. हमें जीवन को बचाने और नए संक्रमण को रोकने पर ध्यान देना होगा.' बता दें की यह एक पुरानी और सस्ती दवा है जो कोरोना वायरस से गंभीर रूप से ...