Shadow

लाल किले पर हिंसा किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश : संजय सिंह

आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी ने केंद्र सरकार की भूमिका पर उठाए सवाल, उच्च स्तरीय जांच की मांग उठाई

लखनऊ : आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने लाल किले पर हुई घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए मामले में केंद्र सरकार की भूमिका पर सवाल खड़े किए। प्रदेश कार्यालय पर पत्रकार वार्ता के दौरान कहा, आम आदमी पार्टी किसी भी आंदोलन में किसी तरह की हिंसा का कोई समर्थन नहीं करती, पर दो महीने से जारी एक शांतिपूर्ण आंदोलन इस स्थिति में कैसे पहुंचा, इसकी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। यह घटना आंदोलन को बदनाम करने की साजिश है।
संजय सिंह ने कहा कि देश के अन्नदाताओं और किसान संगठनों ने दिल्ली के अंदर प्रशासन के साथ कई दौर की वार्ता करके  ट्रैक्टर रैली का रूट तय किया और उसके बाद जो दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई उसको भी हम लोगों ने देखा। आंदोलन में पहली बार हिंसा देखने को मिली। लाल किले पर कुछ लोग पहुंच गए और वहां मारपीट का दृश्य देखने को मिला। आम आदमी पार्टी किसी भी प्रकार का आंदोलन में हिंसा का समर्थन नहीं करती, मगर इस घटना का दूसरा पक्ष यह है कि बड़े पैमाने पर किसान भी इसका शिकार हुए। एक किसान शहीद हुए।

उत्तर प्रदेश के पूर्व विशेष सचिव गृह अमिताभ त्रिपाठी, पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी की भांजी पत्रकार हुदा जारीवाला ने AAP का थामा दामन

संजय सिंह ने कहा, जो लोग लाल किले तक पहुंचे उनकी तस्वीरें देश के प्रधानमंत्री के साथ हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि ये लोग आंदोलन में हैं तो उनको कहां से संरक्षण प्राप्त है, इसकी जांच होनी चाहिए। किसान संगठनों ने भी लाल किले की कार्रवाई को गलत बताया है, उसकी आलोचना की और कहा कि हम इस प्रकार के किसी भी घटना का समर्थन नहीं करते। ऐसे में इस हिंसा के पीछे कोई बड़ी साजिश हो सकती है। संजय सिंह ने इस घटना के पीछे मोदी सरकार के अहंकार को भी दोष दिया। उन्होंने एक बार फिर केंद्र सरकार से तीनों काले कृषि कानून वापस लेने की मांग की। साथ ही किसान संगठनों को भरोसा दिया कि आम आदमी पार्टी शीघ्र शुरू होने जा रहे संसद सत्र में उनकी आवाज बुलंद करेगी।
इस मौके पर संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश के पूर्व विशेष सचिव गृह अमिताभ त्रिपाठी, पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी की भांजी पत्रकार हुदा जारीवाला और आगरा के कैप्टन अमित चौहान को पार्टी की सदस्यता दिलाई।

इस मौके पर अमिताभ त्रिपाठी ने कहा कि आम आदमी पार्टी का दिल्ली मॉडल उन्हें हमेशा से आकर्षित करता रहा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की नीतियों के चलते दिल्ली आज शिक्षा एवं स्वास्थ्य सेवाओं के मामले में मिसाल कायम कर रही है। उत्तर प्रदेश के लोगों को भी दिल्ली की तरह 200 यूनिट तक मुफ्त बिजली, पानी, शिक्षा एवं स्वास्थ्य की बेहतर सुविधाएं मिलें, इसके लिए आम आदमी पार्टी के साथ जुड़कर काम करने का फैसला किया है।

हुदा जारी वाला ने कहा कि आम आदमी पार्टी भ्रष्टाचार मुक्त, साफ-सुथरी, सकारात्मक राजनीति करती है। राजनीति में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष करने के लिए आज की तारीख में आम आदमी पार्टी सबसे बेहतर मंच है। अमित चौहान ने यूपी में विकास का दिल्ली मॉडल लाने के लिए आम आदमी पार्टी ज्वाइन करने की बात कही।

इसी क्रम में प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने नव निर्माण भारत संगठन के महासचिव बाराबंकी निवासी सतीश नारायण शुक्ला, राष्ट्रीय प्रदेश सचिव रणविजय सिंह, अंकुर वर्मा, मनोज सिंह व एन एनएनबी के जिलाध्यक्ष कानपुर निवासी आशीष पांडेय एवं मोहित ग्रोवर को आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई। इसके साथ ही प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने कुंवर सागर पटेल को प्रदेश सचिव की जिम्मेदारी दी।

https://www.youtube.com/watch?v=F6LLASJh3uc

रायबरेली: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने संगठन सृजन कार्यक्रम में की शिरकत, बीजेपी पर बोला हमला

शीतलहर का प्रकोप जारी, मौसम विभाग ने जारी की एडवाइजरी इतने दिनों तक रहेगी भीषण ठंड

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *