Shadow

Whatsapp की नई सेवा शर्तों को अपनाना होगा, चाहे तो डिलीट कर सकते हैं अकाउंट

Whatsapp की नई सेवा शर्तों को अपनाना होगा

व्हाट्सएप के प्रयोग की नई शर्तों को लेकर अब कंपनी ने अपने यूजर्स को नई सेवा शर्तों को लेकर नोटिफिकेशन देना शुरू कर दिया है। व्हाट्सएप के इस्तेमाल की नई सेवा शर्तें 8 फरवरी 2021 से लागू हो रही हैं जिसके अनुसार यदि आपको WhatsApp इस्तेमाल करना है, तो आपको उसकी सेवा शर्तें को पूरी तरह से अपनाना होगा, वरना आप चाहें तो अपना WhatsApp अकाउंट डिलीट कर सकते हैं।

व्हाट्सएप यूजर्स को मिले नोटिफिकेशन के अनुसार नई सेवा शर्तें 8 फरवरी 2021 से लागू हो रही हैं जिसमें कहा गया है कि, आपको व्हाट्सएप की सेवा शर्तें मंजूर नहीं हैं, तो आप अपने व्हाट्सएप अकाउंट को डिलीट कर सकते हैं।

नोटिफिकेशन के अनुसार नई शर्तों में साफ तौर पर कहा गया है कि यदि किसी यूजर्स को हमारी शर्तें मंजूर नहीं हैं तो वह अपने व्हाट्सएप अकाउंट को डिलीट कर सकता है। व्हाट्सएप की नई शर्तों में यह भी बताया गया है कि, नए साल में फेसबुक की स्वामित्व वाली कंपनी व्हाट्सएप यूजर्स के डाटा का प्रयोग किस तरीके से करेगा।

Whatsapp की नई सेवा शर्तों का क्या पड़ेगा असर

व्हाट्सएप ने अपनी नई शर्तों को लेकर साफतौर पर कहा है कि यदि आपको व्हाट्सएप इस्तेमाल करना है तो, उसकी शर्तों को हर हाल में मानना होगा। आखिर इन शर्तों में है, क्या और इसका आपके ऊपर क्या असर पड़ेगा।

Whatsapp की नई सेवा शर्तों में लिखा है कि वह आपके डेटा का इस्तेमाल फेसबुक के साथ बिजनेस के लिए करेगा। अब आप पूछेंगे, व्हाट्सएप पर मेरा डेटा है ही क्या तो आपको बता दें कि पहले डाटा के रूप में आपका फोन नंबर, आपकी कॉन्टेक्ट लिस्ट, मोबाइल नंबर और ई-मेल आईडी है।

दूसरा जो सबसे महत्वपूर्ण डेटा है वह है आपकी चैटिंग। व्हाट्सएप भले ही एंड टू एंड एंक्रिप्शन का दावा करता है, लेकिन पूरी तरह सच नहीं है और यह पिगासस जैसी कई बड़ी हैकिंग में साबित भी हो गया है।

इसको ऐसे समझिये कि मान लीजिए कि आपने अपने दोस्त के साथ अमेजन पर बिक रहे किसी प्रोडक्ट का लिंक शेयर करते हैं तो, व्हाट्सएप आपके इस मैसेज के आधार पर आपको और आपके दोस्त को उस प्रोडक्ट का विज्ञापन फेसबुक और इंस्टाग्राम पर दिखा सकता है। तो कुल मिलाकर बात इतनी-सी है कि आपके व्हाट्सएप डाटा का इस्तेमाल फेसबुक अपने बिजनेस, अपने फायदे के लिए करेगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने ‘किसान कल्याण मिशन’ का किया शुभारंभ

अगर नहीं हुई रिकवरी!, ज़िला प्रशासन करेगा सहारा की प्रॉपर्टीज को नीलाम

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *