Shadow

डब्ल्यूएचओ का दावा- कोरोना को रोकने के लिए हर व्यक्ति की जांच जरूरी नहीं

भारत में लगातार कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है तो वही राहुल गांधी सहित विपक्ष के कई नेताओं ने कहा है कि भारत में कोरोना जांच कम की जा रही है। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने स्पष्ट किया है कि कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए देश के हर व्यक्ति की जांच करना जरूरी नहीं है।

भारत में जरूरत से कम जांच के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर डब्ल्यूएचओ की टेक्निकल लीड डॉ. मरिया वैन कोरखोव ने कहा कि जांच का उद्देश्य वायरस का पता लगाना है, वायरस से संक्रमित लोगों का पता लगाना है। यदि किसी में वायरस के लक्षण पाए जाते हैं तो उसे जल्द से जल्द क्वारंटीन कर उपचार शुरू करना महत्वपूर्ण है ताकि उससे दूसरे लोगों तक संक्रमण न फैल सके। जांच से संक्रमित मरीजों और उनके संपर्क में आए लागों की पहचान में भी मदद मिलती है। हम उनके संपर्क में आए लोगों को भी अलग रख पाते हैं ताकि वे भी दूसरे लोगों तक वायरस न पहुँचा सकें। यह संक्रमण फैलने से रोकने का महत्वपूर्ण तरीका है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *