Shadow

पहलवान रितिका फोगाट ने किया सुसाइड, हाल ही में हारी थीं मुक़ाबला

 

चंडीगढ़। गुरुवार सुबह की शुरूआत एक दुखद खबर से हुए। देश के प्रसिद्ध पहलवान परिवार की रितिका फोगाट ने हरियाणा के चरखी दादरी जिले में आत्महत्या कर ली। पुलिस ने इस घटना की जानकारी दी। बता दें कि रितिका फोगाट पहलवान फोगाट बहनों की ममेरी बहन हैं और हाल में ही वह एक मुकाबला गईं थी। जिससे तनाव में आकर उन्होंने आत्महत्या कर ली।

पुलिस ने बताया कि राजस्थान की जयपुर की रहने वाली रितिका अपने फूफा और द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित महावीर सिंह फोगाट के यहां चरखी दादरी के बलाली गांव में पिछले चार वर्षों से रह रही थीं। यह क्षेत्र झोझु कलां पुलिस थाना क्षेत्र के अंंतर्गत आता है। उन्होंने बताया कि 17 मार्च की रात में रितिका ने पंखे से लटककर फांसी लगा ली। वह सिर्फ एक अंक से मुकाबला गंवाने के बाद परेशान चल रही थीं।

पुलिस के अनुसार, यह टूर्नामेंट राजस्थान के भरतपुर में 12 से 14 मार्च के बीच आयोजित हुआ था। रितिका चरखी दादरी में महावीर फोगाट स्पोर्ट्स अकेडमी में पहलवानी के दांव-पेंच सीख रही थीं। वहीं पहलवान गीता फोगाट और बबीता फोगाट ने अपनी ममेरी बहन रितिका को ‘होनहार पहलवान’ बताया है। गीता ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘भगवान मेरी छोटी बहन मेरे मामा की लड़की रितिका की आत्मा को शांति दे. मेरे परिवार के लिए बहुत ही दुख की घड़ी है. रितिका बहुत ही होनहार पहलवान थी, पता नहीं क्यों उसने ऐसा कदम उठाया. हार-जीत खिलाड़ी के जीवन का हिस्सा होता है, हमें ऐसा कोई कदम नहीं उठाना चाहिए।

वहीं, पहलवान बबीता फोगाट ने ट्वीट में कहा, ”भगवान रितिका की आत्मा को शांति दे. यह समय पूरे परिवार के लिए बहुत ही दुख की घड़ी है. आत्महत्या कोई समाधान नहीं है. हार और जीत दोनों जीवन के महत्वपूर्ण पहलू हैं. हारने वाला एक दिन जीतता भी जरूर है. संघर्ष ही सफलता की कुंजी है संघर्षों से घबराकर ऐसा कोई कदम नहीं उठाना चाहिए.”

इसके साथ ही पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय कुमार सिंह ने भी रितिका की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि, ‘‘यह दिल दुखाने वाली खबर है कि हमने एक क्षमतावान पहलवान रितिका फोगाट को खो दिया है। दुनिया दशकों पहले जैसी थी, उससे अब बदल चुकी है. खिलाड़ी दबावों का सामना कर रहे हैं, जैसा कि पहले नहीं हुआ करता था. उनके प्रशिक्षण के अहम हिस्सों में इन दबावों से निपटने के तरीके को भी शामिल किया जाना चाहिए.’’

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *