Shadow

योगी सरकार ने पेश किया चुनावी बजट/ की हर वर्ग को साधने की कोशिश, आप भी जानिये क्या रहा खास

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने आज अपने कार्यकाल का अंतिम बजट पेश किया। केंद्र सरकार की तर्ज पर प्रदेश सरकार ने भी इस बार पेपरलेस बजट पेश किया। अंतिम बजट होने के नाते इस बजट में सरकार ने प्रत्येक वर्ग को साधने की कोशिश की है। तो आइए आपको बताते हैं, इस बजट में किस वर्ग के लिए किन किन सौगातों की घोषणा हुई।

सीएम योगी ने अपने कार्यकाल के अंतिम बजट के लिए वित्त मंत्री की सराहना की है। उनका कहना है कि बजट को सभी वर्गों के उत्थान को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है। यह बजट युवाओं को समर्पित है। उन्होंने पेपर लेस बजट के लिए वित्त मंत्री को विशेष धन्यवाद दिया।

यूपी सरकार द्वारा पेश किये गये बजट में अयोध्या धाम तक पहुंच मार्ग के लिए 300 करोड़ की व्यवस्था की गई है।  साथ ही गरीब कलाकारों को 2000 रुपये प्रतिमाह पेंशन सरकार देगी। वहीं हर मंडल में एक राज्य विश्वविद्यालय बनाने का भी ऐलान किया गया है। साथ ही 26 जिलों में माडल राजकीय महाविद्यालयों के लिए 200 करोड़ की व्यवस्था की गई है। वहीं लखनऊ में जनजातीय संग्रहालय, बनाने के लिए 8 करोड़ की व्यवस्था की गई है। साथ ही छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य गौरव पुरस्कार भी दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत सामान्य महिला एवं आरक्षित वर्ग के लाभार्थियों को दस लाख रुपये तक ब्याज रहित ऋण तथा सामान्य वर्ग के पुरुष लाभार्थियों को चार प्रतिशत वार्षिक ब्याज पर बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था का ऐलान हुआ। माटीकला की परम्परागत कला एवं कारीगरों को संरक्षित-संवर्धित करने के लिए बजट में दस करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है।

वहीं प्रदेश में एक जिला- एक उत्पाद योजना के लिए 250 करोड़ रुपये की घोषणा का ऐलान हुआ है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। तो शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के पारंपरिक कारीगरों के लिए विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के लिए 30 करोड़ रुपये के बजट की व्यवस्था हुई है।
 
वहीं यमुना एक्सप्रेस वे में जेवर एअरपोर्ट के पास एक इलेक्ट्रानिक सिटी की स्थापना और बुंदेलखंड में रक्षा इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर की स्थापना का लक्ष्य रखा गया है।

साथ ही किसानों के लिए प्रदेश सरकार ने साल 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए वित्तीय वर्ष 2021-22 से आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना संचालित की जाएगी। इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपये प्रस्तावित किए गए हैं। मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के लिए 600 करोड़ रुपये बजट की व्यवस्था की गई है। किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा देने के लिए 700 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था की गई है। रियायती दरों पर किसानों को फसली ऋण उपलब्ध कराने के लिए 400 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। साथ ही प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान के लिए वर्ष 2021-22 के लिए 15 हजार सोलर पंपों की स्थापना का लक्ष्य निर्धारित किया है।

 
वहीं लखनऊ में एयरपोर्ट के सामने नादरगंज में 40 एकड़ क्षेत्रफल में पीपीपी मॉडल पर अत्याधुनिक सूचना प्रौद्योगिकी कॉम्प्लेक्स का निर्माण प्रस्तावित किया गया है। साथ ही जेवर एयरपोर्ट के पास एक इलेक्ट्रानिक सिटी और यमुना एक्सप्रेस वे पर जेवर एयरपोर्ट के पास एक इलेक्ट्रानिक सिटी की स्थापना होगी।
 
वहीं अयोध्या में निर्माणाधीन एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा अयोध्या होगा। इसके लिए 101 करोड़ रुपये की बजट प्रस्तावित किया गया।अयोध्या स्थित सूर्यकुंड के विकास सहित अयोध्या नगरी के सर्वांगीण विकास की योजना हेतु बजट में 140 करोड़ रुपये की व्यवस्था का प्रस्ताव है। साथ ही जेवर एयरपोर्ट के लिए 2000 करोड़ और चित्रकूट- सोनभद्र एयरपोर्ट से 2021 में हवाई सेवाओ का संचालन शुरू करने का दावा हुआ है।

वित्त मंत्री ने बजट भाषण में एलान किया कि आयुर्वेद को बढ़ावा दिया जा रहा है। लखनऊ-पीलीभीत में आयुर्वेद विद्यालयों का काम किया जा रहा है। इसके अलावा लखनऊ में राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल के निर्माण हेतु 50 करोड़ रुपये की घोषणा की गई है।

वहीं वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने एलान किया कि कोरोना टीकाकरण के लिए 50 करोड़ रुपये प्रस्तावित किए गए हैं।
 
गोवंश के सरंक्षण के लिए योजना 
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि गोवंश के सरंक्षण के लिए योजना चलाई जा रही है, अलग-अलग जगह पर गोशाला बनाई गई हैं। इसे आगे बढ़ाया जाएगा और अलग-अलग जगहों पर आश्रय स्थलों की संख्या को बढ़ाई जाएगी।

हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज बनाने का लक्ष्य है
योगी सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए अब तक का सबसे बड़ा 5 लाख 50 हजार 270 करोड़ 78 लाख रुपये का बजट पेश किया। इसके तहत हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज बनाने का लक्ष्य है। 16 जिलों में मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं। मेडिकल शिक्षा के लिए एक हजार करोड प्रस्तावित किए गए हैं।
 
प्रदेश के 19 जिलों में कुल 40 छात्रावास बनाए जाएंगे। किताबें भी उपलब्ध कराई जाएंगी। अलग-अलग जनपदों में अधिवक्ताओं के लिए चेंबर बनाए जाएंगे।
 
यूपी सरकार ने मेरठ में स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय बनाने का एलान किया है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में ओपन जिम बनाए जाएंगे।

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि संस्कृत विद्यालयों को गुरुकुल पद्धति के अनुसार संचालित किया जाएगा। विद्यार्थियों को निःशुल्क छात्रावास और भोजन की व्यवस्था होगी।

किसानों के लिए बड़ा एलान
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट भाषण में कहा कि एक हजार करोड़ से ज्यादा का गन्ना किसानों का भुगतान किया। प्रदेश में अधिक उत्पादक वाली फसलों की पहचान की जाएगी। ब्लॉक स्तर पर कृषक उत्पादन संगठनों की स्थापना होगी और इसके लिए 100 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा के लिए 700 करोड़ रुपये दिया जाएगा। किसानों को रियायती दाम पर लोन देने का भी एलान किया गया है। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य है। सड़क हादसे में मरने वाले किसानों को पांच लाख की आर्थिक मदद दी गई। वित्त मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री अभ्योदय योजना शुरू की गई। हर घर में जल, बिजली और बैंकिंग की सुविधा मिलेगी। महिला सुरक्षा के लिए लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं। 

 

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *